नई दिल्ली: हरियाणा में टिकट वितरण में अपने समर्थकों की अनदेखी से नाराज कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने विधानसभा चुनाव के लिए बनी विभिन्न समितियों से इस्तीफा दे दिया है.

कांग्रेस ने हरियाणा की सभी 90 सीटों पर उम्मीदवार घोषित किए, हुड्डा सहित कई वरिष्ठ नेताओं को टिकट

तंवर ने बृहस्पतिवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कहा कि उन्हें समितियों से मुक्त किया जाए और वह सामान्य कार्यकर्ता की तरह पार्टी के लिए काम करते रहेंगे.

अशोक तंवर और उनके समर्थकों ने सोनिया गांधी के आवास के बाहर किया प्रदर्शन, हुड्डा के खिलाफ लगे नारे

वह चुनाव के लिए बनी प्रदेश चुनाव समिति सहित कई समितियों में शामिल थे. उन्होंने यह भी दावा किया कि हरियाणा कांग्रेस अब ‘हुड्डा कांग्रेस’ बनती जा रही है. तंवर ने टिकट वितरण में मेहनती कार्यकर्ताओं की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि यह बताया जाए कि किन मापदंडों के आधार पर टिकट दिए गए हैं.

आपको बता दें कि कांग्रेस ने तमाम बैठकों और काफी मंथन के बाद हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए सभी 90 सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिए जिनमें वरिष्ठ नेताओं भूपेंद्र सिंह हुड्डा, रणदीप सुरजेवाला और कुलदीप बिश्नोई के नाम शामिल हैं. पार्टी ने केवल एक मौजूदा विधायक को छोड़कर बाकी सभी को टिकट दिया है.

बीते दिनो हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी में लंबे समय से चली आ रही कलह बुधवार को खुलकर सामने आ गई. पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर और उनके समर्थकों ने बुधवार को पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास के बाहर प्रदर्शन किया तथा पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ नारेबाजी की.

तंवर और उनके समर्थकों ने आरोप लगाया था कि टिकट वितरण में भ्रष्टाचार हो रहा है. पार्टी के लिए वर्षों से मेहनत करने वाले कार्यकर्ताओं की अनदेखी की जा रही है. सोनिया गांधी के आवास के बाहर तंवर और उनके सैकड़ों समर्थकों जमा हुए और हुड्डा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

(इनपुट-भाषा)