अहमदाबाद: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को लोगों से आग्रह किया कि वे खरीदारी के लिए अपने साथ कपड़े के थैले लेकर चलें और पॉलीथिन का इस्तेमाल करने से बचें. उन्होंने कहा कि जमीन पर बिखरा प्लास्टिक कचरा बारिश के पानी को धरती को नहीं सोखने देता और इसे खाने से गायों की जान भी जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शाह दोनों ही एकल इस्तेमाल प्लास्टिक के उपयोग को बंद करने की हाल में आवश्यकता जता चुके हैं.

शाह के निर्वाचन क्षेत्र गांधीनगर के कलोल में आयोजित समाजिक अधिकारिता शिविर में शामिल होने वाले प्रत्येक व्यक्ति को कपड़े के थैले वितरित किए गए. कार्यक्रम में दिव्यांगों को सहायता सामग्री भी वितरित की गई. केंद्रीय गृह मंत्री कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे. उनके साथ केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत भी थे जिनके मंत्रालय ने कार्यक्रम का आयोजन किया.

शाह ने कहा, ‘यहां आए आप सभी लोगों को एक-एक थैला दिया गया है. हमें सब्जी और किराने का सामान जैसी चीजें खरीदने के लिए इसका इस्तेमाल करना है. प्लास्टिक बैगों का इस्तेमाल बंद करें.’ शाह ने कहा- ‘प्लास्टिक बैगों (पॉलीथिन) को नष्ट होने में 400 साल लगते हैं. यदि हजारों परिवार कदम उठाते हैं और प्लास्टिक बैगों का इस्तेमाल बंद कर देते हैं तो पृथ्वी प्रदूषण से बचेगी.’

उन्होंने कहा ‘प्लास्टिक बैगों का कचरा वर्षाजल को धरती के अंदर नहीं जाने देता और भूजल नीचे जा रहा है. जब हम प्लास्टिक बैगों में खाना फेंकते हैं तो गाय प्लास्टिक को खा जाती हैं और परिणामस्वरूप उनकी मृत्यु हो जाती है.’ शाह ने कार्यक्रम में पहुंचीं महिलाओं से अपील की कि विशेषकर उन्हें खरीदारी के लिए प्लास्टिक बैगों का इस्तेमाल बंद करना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘यदि आप कपड़े के बैग का इस्तेमाल शुरू कर देंगे तो यह फैशन बन जाएगा और हर कोई आपके कदम पर चलेगा.’

(इनपुट-भाषा)