लखनऊः समाजवादी पार्टी ने हाई प्रोफाइल लोकसभा सीट गोरखपुर पर होने वाले उपचुनाव के लिए अपने सहयोगी दल निषाद पार्टी के प्रवीण कुमार निषाद को अपना प्रत्याशी बनाया है. गौरतलब है कि गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान 11 मार्च को होना है. सपा ने कहा कि फूलपुर के लिए भी उम्मीदवार की घोषणा जल्दी की जाएगी. इन दोनों सीटों पर पिछले विधानसभा चुनाव में सपा की सहयोगी कांग्रेस पार्टी पहले ही अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर चुकी है. Also Read - Facebook, Instagram यूजर्स पोस्ट में जोड़ सकेंगे रेट्रो म्यूजिक, जानें कैसे...

Also Read - मशहूर एक्टर रोहित रॉय ने अब एक्टिंग के अलावा इस काम में डाला हाथ, शेयर किया प्लान 

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि प्रदेश की निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद के बेटे प्रवीण निषाद को पार्टी ने गोरखपुर से अपना लोकसभा उपचुनाव का प्रत्याशी घोषित किया है. वह सपा के चुनाव चिन्ह साइकिल पर ही चुनाव लड़ेंगे. Also Read - World Enviorment Day 2020: विश्व के ये शहर है सबसे ज्यादा प्रदूषित, जानें क्या है इन शहरों में प्रदूषण का कारण

यह भी पढ़ेंः UP उपचुनाव: गोरखपुर और फूलपुर में जीत को लेकर आश्वस्त दिख रही भाजपा, आखिर क्यों?

इससे पहले प्रदेश के पूर्वांचल की दो छोटी पार्टियों निषाद पार्टी और पीस पार्टी के अध्यक्ष क्रमश: संजय निषाद और मोहम्मद अय्यूब ने समाजवादी के साथ गठजोड़ कर चुनाव लड़ने की घोषणा की है. गठबंधन के भविष्य के संबंध में किए गए सवालों के जवाब में अखिलेश ने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य सांप्रदायिक शक्तियों को चुनाव में हराना है. गोरखपुर की जनता से हम अपील करेंगे कि उपचुनाव में वह सच्चई के साथ मैदान में उतरने वालों का साथ दें.

यह भी पढ़ेंः बदला BJP दफ्तर का पता, क्‍या खास है दुनिया के सबसे बड़े इस पार्टी दफ्तर में, जानें 10 बातें

उन्होंने आरोप लगाया कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पिछले साल ऑक्सीजन की कमी से सैकड़ों मासूम बच्चों की जान चली गई, लेकिन सरकार ने कोई खास कदम नहीं उठाए. अब तो वहां के प्रिसिंपल कॉलेज में आग भी लग गई और जो महत्तवपूर्ण सबूत थे वह भी जलकर राख हो गए. फूलपुर उप चुनाव के प्रत्याशी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि ‘फूलपुर में इस बार कमल का फूल मुरझाएगा, सपा जल्द ही फूलपुर का भी अपना प्रत्याशी घोषित करेगी.

गौरतलब है कि गोरखपुर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और फूलपुर से उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के लोकसभा से इस्तीफा देने के बाद उपचुनाव हो रहे हैं. दोनों प्रदेश विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हो गए हैं. उप चुनाव के लिए इन दोनो सीटों पर 11 मार्च को मतदान है, जबकि 14 मार्च को परिणाम घोषित किए जाएंगे.