नई दिल्ली: हरियाणा में विधानसभा चुनाव खत्म हो चुके हैं. राजनीतिक पार्टियां फिलहाल सरकार बनाने के फेर में पड़ी हुई हैं. इसी बीच एक संस्था ने रिपोर्ट जारी किया है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि हरियाणा के नवनिर्वाचित विधायकों में से 90 में से 84 विधायक करोड़पति हैं. रिपोर्ट में विधायकों की पढ़ाई का स्तर और अपराधिक मामलों के बारे में भी बताया गया है.

चुनाव निगरानी संस्था ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’ (एडीआर) के एक विश्लेषण में कहा गया है कि हरियाणा के नवनिर्वाचित 90 विधायकों में से 84 विधायक करोड़पति हैं. एडीआर रिपोर्ट के अनुसार, निवर्तमान विधानसभा में 90 में से 75 विधायकों की संपत्ति एक करोड़ रुपये से अधिक थी. इसका अर्थ है करोड़पति विधायकों की संख्या में 10 फीसदी का इजाफा हुआ है.

हरियाणा में नई सरकार को लेकर JJP का बयान- हमारे दरवाजे भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिए खुले हैं

इसके अनुसार हरियाणा में प्रति मौजूदा विधायकों की संपत्ति का औसत 18.29 करोड़ रुपये है जबकि 2014 में यह 12.97 करोड़ रुपये था. एडीआर के विश्लेषण के अनुसार भाजपा के 40 में से 37 विधायक और कांग्रेस के 31 में से 29 विधायक करोड़पति हैं.

दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी (जजपा) के 10 विधायक सबसे अमीर हैं जिनकी औसत संपत्ति 25.26 करोड़ रुपये है. रिपोर्ट के अनुसार 57 विधायकों की उम्र 41 से 50 वर्ष के बीच है, 62 विधायकों के पास स्नातक या उससे ऊपर की डिग्री है.

निर्दलीय विधायकों ने अगर भाजपा को दिया समर्थन तो जनता उन्हें जूतों से मारेगी: दीपेंद्र सिंह हुड्डा

रिपोर्ट के अनुसार, 90 विधायकों में से 12 पर आपराधिक मामले चल रहे हैं जबकि निवर्तमान विधानसभा में ऐसे विधायकों की संख्या 9 है. इसके अनुसार आपराधिक मामलों का सामना कर रहे विधायकों में से चार कांग्रेस से, दो भाजपा से और एक जजपा से हैं.