बिहारशरीफ: नालंदा जिले में शुक्रवार को भीड़ ने हत्या के एक आरोपी को मकान की पहली मंजिल की बालकनी से नीचे फेंक दिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. भीड़ ने इस घटना को तब अंजाम दिया जब उसे पता चला कि बालकनी से फेंके गए शख्स ने एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी है. इतना ही नहीं भीड़ ने हिंसा भी की जिसमें 11 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए. पुलिस अधीक्षक (एसपी) सुधीर कुमार पोरिका ने कहा कि भीड़ ने उसी बालकनी से एक पुलिसकर्मी को भी धकेल दिया, जो उस व्यक्ति को बचाने गया था.

स्थानीय महलपार इलाके में हुई हिंसा में छह पत्रकार भी जख्मी हो गए. एसपी ने कहा कि यह घटना जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है उस वक्त हुई जब 28 साल के दिवाकर कुमार की गोली मारकर हत्या करने के बाद आरोपी एक मकान में छुपा हुआ था और फिर स्थानीय लोगों ने उसे पकड़ लिया. भीड़ में शामिन लोगों ने आरोपी की पिटाई की और मकान की पहली मंजिल की बालकनी से उसे फेंक दिया जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया.

पुलिस ने कहा कि एक पुलिसकर्मी ने आरोपी को बचाने की कोशिश की लेकिन उसे भी बालकनी से धकेल दिया गया और वह भी जख्मी है. भीड़ ने मकान में तोड़फोड़ भी की और कम से कम छह वाहनों को आग के हवाले कर दिया. एसपी ने बताया कि डिप्टी एसपी रैंक के दो अधिकारियों सहित कुल 11 पुलिसकर्मी पथराव कर रहे स्थानीय लोगों के साथ हुई झड़प में जख्मी हो गए. पोरिका ने बताया कि इस सिलसिले में नौ लोग गिरफ्तार किए गए हैं और इलाके में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. उन्होंने कहा कि हालात अब काबू में हैं.