मुंबई: महाराष्ट्र सरकार ने पर्यावरण की दिशा में ठोस पहल करते हुए प्लास्टिक के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है. महाराष्ट्र में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर 18 मार्च से प्रतिबंध लगाया जाएगा, 18 मार्च को गुड़ी पड़वा का त्यौहार है जिसे महाराष्ट्र में नववर्ष के रूप में मनाया जाता है. महाराष्ट्र के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार ने महाराष्ट्र के नववर्ष ‘गुड़ी पड़वा’ से प्लास्टिक के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय किया है जो कि 18 मार्च को है. कदम ने सदन को सूचित किया कि प्रतिबंध में प्लास्टिक का उत्पादन, इस्तेमाल, भंडारण, बिक्री, वितरण, आयात और परिवहन शामिल होगा.Also Read - Omicron Cases Update: अब महाराष्‍ट्र में मिला ओमीक्रोन का नया केस, देश में अब तक कुल 4 केस

उन्होंने कहा कि प्रतिबंध का उल्लंघन करने वाले पर 25 हजार रूपये का जुर्माना लगाया जाएगा और उसे तीन वर्ष की जेल की सजा भी हो सकती है. उन्होंने सदन को बताया कि प्लास्टिक बैग, थर्मोकोल, डिस्पोजेबल कप एवं प्लेट, चम्मच एवं कांटा, बिना बुना हुआ पॉलिप्रोपीलीन बैग, प्लास्टिक पाउच और पैकेजिंग प्रतिबंधित रहेगा. शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने प्लास्टिक पर बैन लगाने के फैसले का स्वागत करते हुए पर्यावरण मंत्री रामदास कदम को धन्यवाद दिया. दरअसल आदित्य ठाकरे ने ही प्लास्टिक पर बैन लगाने का प्रस्ताव कदम को दिया था जिसके बाद ये फैसला किया गया है. Also Read - महाराष्ट्र सरकार के मंत्री ने कहा- कांग्रेस के बिना विपक्षी एकता संभव नहीं, सब एकजुट हों

Also Read - IND vs NZ, 2nd Test: वानखेड़े स्टेडियम में रचेगा 'इतिहास', दो महिलाओं को सौंपी गई खास जिम्मेदारी

हालांकि दवा, वन एवं बागवानी उत्पादों, ठोस कचरा, पौधों को लपेटने के लिए इस्तेमाल प्लास्टिक और निर्यात उद्देश्यों के लिए विशेष आर्थिक क्षेत्र में प्लास्टिक के इस्तेमाल को इस प्रतिबंध से छूट होगी. कदम ने इसके साथ ही कहा कि इसी तरह से उत्पादित और प्रसंस्कृत उत्पादों के लिए प्लास्टिक कवर और उसे लपेटने के लिए इस्तेमाल प्लास्टिक को भी छूट होगी.

उन्होंने कहा कि दूध की बिक्री के लिए इस्तेमाल प्लास्टिक के पाउच 50 माइक्रोन से अधिक के होने चाहिए और इसे रीसाइकिल किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा उत्पादनकर्ता, विक्रयकर्ता और वितरकों को यह अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए कि वे पीईटी बोतलों की रीसाइकिलिंग के लिए एक व्यवस्था तैयार करें.