पणजी: गोवा के पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनके विभाग ने उत्तरी गोवा जिले के खूबसूरत पर्रा गांव में तस्वीरें खींचने पर ‘स्वच्छता कर’ लगाने की अनुमति नहीं दी है. अजगांवकर ने बताया कि पर्यटन विभाग इस बात की जांच करेगा कि दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पैतृक गांव, पर्रा की पंचायत इस तरह का कर कैसे लगा रही है. Also Read - Education Loan के लिए आवेदन से पहले जान लें ये खास बातें, इनसे होगा आपको फायदा

यह मामला बुधवार को सामने आया जब गोवा के कुछ कार्यकर्ताओं ने सोशल मीडिया पर यह मुद्दा उठाया कि पर्रा गांव पंचायत ने अपने सीमाक्षेत्र में तस्वीरें खींचने या वीडियो शूट करने पर कर लगाना शुरू कर दिया है. गांव की मुख्य सड़क पर लगाए गए एक बोर्ड पर लिखा है, फिल्म शूटिंग एवं फोटो शूट पर स्वच्छता कर/ स्वच्छ पार्रा मिशन कर लगाया जाएगा. यह कर व्यक्तियों और व्यवसाय के हिसाब से अलग-अलग होगा. Also Read - Education Loan चाहिए तो कुछ यूं करें आवेदन, लेकिन इन बातों का रखें खास ख्याल, रहेंगे फायदे में

अजगांवकर ने इसे गंभीरता से लेते हुए कहा, मेरे विभाग ने ऐसा कोई कर लगाने के लिए किसी प्रकार की अनुमति नहीं दी है. हम इसकी जांच करेंगे. मंत्री ने कहा, अगर प्रत्येक पंचायत इस तरह के अपने -अपने कर लगाना शुरू कर देगी तो यह राज्य के पर्यटन क्षेत्र के लिए नुकसानदायक होगा. Also Read - यूपी के ग्रामीणों ने गावों में प्रवेश पर लगाया प्रतिबंध, उल्लंघन करने पर लगेगा जुर्माना, पूरा गांव क्वारंटीन

हालांकि पर्रा गांव पंचायत के एक प्रतिनिधि ने कहा कि यह कर इसलिए लगाया गया क्योंकि पर्यटक अपने पीछे यहां कूड़ा-करकट छोड़ जाते हैं. उन्होंने कहा, कर वसूली से मिली राशि का इस्तेमाल यहां की सफाई में किया जाएगा. हम हमारी जगह को साफ रखने के लिए सरकार की ओर से धन दिए जाने पर निर्भर नहीं रहना चाहते. हम कर लगा कर इसे अपने संसाधनों के जरिए कर रहे हैं.

(इनपुट-भाषा)