अमेरिका के एक रेस्तरां में एक डॉक्टर ने अपनी कलाई पर बंधी ‘एप्पल वाच सीरीज 4’ की मदद से एक व्यक्ति के शरीर में आर्टरी फाइब्रिलेशन (ए-फिब) का पता लगा उसका जीवन बचा लिया। यह अपनी तरह का पहला मामला है। आर्टरी फाइब्रिलेशन एक घातक स्थिति है, जिसका इलाज नहीं किया जा सकता और इससे दिल का दौरा पड़ सकता है। अक्सर इस स्थिति का पता नहीं चल पाता, क्योंकि कई लोगों को इसके लक्षणों का एहसास नहीं होता।
एप्पल वाच पर ‘इर्रेगुलर रिद्म नोटिफिकेशन’ फीचर हृदयगति की लय जांच सकता है और नोटिफिकेशन भेज सकता है कि हृदय की अनियमित लय का कारण ए-फिब है या नहीं।

कैलिफोर्निया के सान डियागो में नेत्र विशेषज्ञ टॉमी कॉर्न ने ट्वीट किया, “एक फिजीशियन के तौर पर, बीमारी का पता लगाने के लिए किसी सार्वजनिक स्थान पर ईसीजी मशीन ढूंडने से जल्दी अपनी एप्पलवाच4 को किसी और की कलाई पर रखा जा सकता है।” अपने ट्वीट के रिप्लाई में कॉर्न ने कहा कि ए-फिब से पीड़ित व्यक्ति बाद में बेहतर कर रहा है।

‘एप्पल वाच सीरीज 4’ अब अमेरिका, यूरोप और हांगकांग में धीमी या तेज हृदयगति का एहसास कर रहे यूजर्स का इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (ईसीजी) उनकी कलाई से कुछ ही क्षणों में उनकी हृदयगति की लय को समझने और फिजीशियन को महत्वपूर्ण जानकारी देने में मदद कर रहा है। एप्पल वाच का यह स्वास्थ्य फीचर फिलहाल भारत में उपलब्ध नहीं है।