नई दिल्ली: सरकार ने इस सप्ताह चीन से संबंध रखने वाली जिन 59 ऐप पर रोक लगाई है, उन्हें गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर ने भारत में हटा दिया है. इससे देश में मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं की इन ऐप तक पहुंच बंद हो गई है. भारत सरकार ने इस सप्ताह सोमवार को टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, शेयरइट और वीचैट सहित चीन की 59 ऐप पर रोक लगाते हुये कहा कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिये नुकसानदेह हैं.Also Read - बड़ी खबर: TikTok कर रहा है भारत में वापसी की तैयारी, इस बार नए नाम के साथ देगा दस्तक

इसके एक दिन बाद लोकप्रिय लघु वीडियो ऐप टिकटॉक को गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर से हटा दिया गया था, जबकि अन्य 58 चीनी ऐप को अब हटाया गया है. गूगल ने कहा कि उसने भारत में अपने प्ले स्टोर से इन ऐप को अस्थायी रूप से रोका है. गूगल के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम भारत सरकार के अंतरिम आदेशों की समीक्षा कर रहे हैं. इस बीच, हमने प्रभावित डेवलपर्स को सूचित किया है और इन ऐप तक पहुंच को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है, जो भारत में प्ले स्टोर पर अभी उपलब्ध हैं.’’ Also Read - अगर आपके फोन में भी हैं ये 9 खतरनाक ऐप्स तो जल्द कर दें डिलीट, नहीं तो हो सकता है नुकसान!

हालांकि, प्रवक्ता ने उन ऐप का ब्योरा नहीं दिया, जिन्हें गूगल ने ब्लॉक किया है. सूत्रों ने कहा कि इसी तरह की कार्रवाई एपल प्ले स्टोर ने भी की है. प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से चीन के जिन ऐप को हटाया गया है, उनमें यूसी ब्राउजर, शेयरइट, वीचैट, कैमस्कैनर और एमआई कम्युनिटी शामिल हैं. भारत में टिकटॉक ऐप का इस्तेमाल पूरी तरह बंद हो गया है. Also Read - जो बाइडेन ने पलटा ट्रंप प्रशासन का फैसला- TikTok और WeChat पर अमेरिका नें नहीं लगेगी रोक!

इस बीच टिकटॉक के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी की सरकार के प्रतिबंध के खिलाफ कानूनी कदम उठाने की कोई योजना नहीं है. उसने कहा, ‘‘हमारी ऐसी कोई योजना नहीं है. हम इस समस्या का समाधान निकालने के लिये सरकार के साथ मिलकर काम करने के लिये तैयार हैं. हम भारत सरकार के नियमों और कानूनों का पालन करते हैं. डेटा की संप्रभुता, सुरक्षा और गोपनीयता सुनिश्चित करते हुए हमने हमेशा ही उपयोक्ताओं को सर्वोपरि रखा है.’’

सूत्रों के अनुसार जिन 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाया गया, उनमें से कई के डेवलपर्स ने स्वेच्छा से अपने एप्लिकेशन को गूगल प्ले स्टोर से हटा लिया था. इस बीच, प्रतिबंधित ऐप बिगो लाइव ने एक बयान में कहा कि उसने भारत में गूगल प्ले और एप स्टोर से अपने ऐप को अस्थायी रूप से हटा दिया है. कंपनी ने कहा कि वह स्थानीय कानूनों का पालन करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

एक अन्य प्रतिबंधित ऐप लाइकी ने अलग से बयान में कहा कि उसने अपने ऐप को गूगल प्ले और एपल ऐप स्टोर से अस्थायी तौर पर हटा लिया है. उसने कहा कि भारत में उसने अपनी सेवाओं को भी निलंबित कर दिया है. कंपनी ने कहा, ‘हम भारत सरकार के आदेश का सम्मान करते हैं और इस कारण हमने अपने ऐप को गूगल प्ले स्टोर तथा एपल ऐप स्टोर से फिलहाल हटा लिया है. हमने इस मामले में स्थिति अधिक स्पष्ट होने तक भारत में अपनी सेवाएं भी निलंबित कर दी है.’ प्रतिबंध लगाये जाने के कुछ ही देर बाद टिकटॉक गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर पर दिखना बंद हो गया था.