सैन फ्रांसिस्को: प्रौद्योगिकी कंपनी ऐपल के खिलाफ एक कानूनी कंपनी ने मुकदमा किया है. कंपनी का आरोप है कि मैकबुक और मैकबुक प्रो के बटरफ्लाई कीबोर्ड की डिजाइन इस तरह है कि वह कभी भी फेल हो सकता है. फोर्ब्स पत्रिका में प्रकाशित एक रपट के अनुसार, बटरफ्लाई कीबोर्ड की डिजाइन में कथित गड़बड़ी की कई शिकायतों के बाद ऐपल के खिलाफ यह मुकदमा किया गया है.

कानूनी कंपनी गिरार्ड गिब्स ने मैकबुक के दो उपयोगकर्ताओं की तरफ से यह मुकदमा किया है. इसके पहले लगभग 25,000 लोगों ने एप्पल से गड़बड़ी ठीक करने के अनुरोध वाली एक याचिका पर हस्ताक्षर किए. इन उपकरणों के मालिकों ने शिकायत की है कि प्रत्येक की के नीचे बटरफ्लाई तंत्र के कारण की चिपक जाती है और फेल हो जाती है.

कानूनी याचिका में दोषपूर्ण कीबोर्ड्स की मरम्मत प्रक्रिया के मुद्दे भी उठाए गए हैं, जिसमें कहा गया है कि मरम्मत करने के बावजूद समस्या हमेशा के लिए दूर नहीं हो पा रही है. ऐपल ने अपना बटरफ्लाई कीबोर्ड पहली बार तीन वर्ष पहले 12 इंच के मैकबुक के साथ पेश किया था. ऐपल का दावा है कि जब कोई उपयोगकर्ता इस कीबोर्ड के किसी बटन को दबाता है तो वह नीचे जाकर एक विशेष गति के साथ वापस ऊपर आता है. एप्पल पर पहली बार मुकदमा नहीं हुआ है. इस वर्ष के प्रारंभ में जानबूझकर धीमा आईफोन बनाने के लिए भी कंपनी पर मुकदमा किया गया था.

(इनपुट: IANS)