योगगुरू बाबा रामदेव ने हाल ही में बीएसएनएल के साथ सिम कार्ड लॉन्च करने के बाद अब टेलिकॉम इंडस्ट्री में उतरने का पूरा मन बना लिया है. पतंजलि ने लोगों को आकर्षित करने के लिए अब एक स्वदेशी मैसेजिंग ऐप किया जिसे किम्भो (Kimbho) नाम दिया गया है. एस ऐप के लॉन्च होने के बाद से ही ये लोगों के बीच चर्चा का केंद्र बना हुआ है. हालांकि इसे लेकर यूथ कई प्रकार के सवाल भी कर रहा है. Also Read - पंतजलि ने PM CARES Fund में 25 करोड़ रुपए का सहयोग दिया: योगगुरु रामदेव

माना जा रहा है कि पतंजलि के ऐप किम्भो की टक्कर ईमो और व्हाट्सऐप से होगी. हालांकि Kimbho ऐप के बारे में पतंजलि या बाबा रामदेव ने फिलहाल मीडिया से कुछ शेयर नहीं किया है. बता दें कि Kimbho ऐप गूगल प्ले-स्टोर से फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है. इस ऐप को गुरूवार को (30 मई) को अपडेट किया गया है.

गूगल प्ले-स्टोर पर किम्भो ऐप के डेवलपर का एड्रेस भी पतंजिल आयुर्वेद लिमिटेड, डिपार्टमेंट ई-कॉमर्स, D-28 इंडस्ट्रियल एरिया, नियर इनकम टैक्स ऑफिस, हरिद्वार, उत्तराखंड, 249401 दिया गया है. इसके अलावा इस ऐप को पतंजलि कंम्यूनिकेशन द्वारा लॉन्च किया है.

Kimbho ऐप में क्या है खास
Kimbho के ऐप के फीचर्स की बात करें तो इसके जरिए व्हाट्सऐप की तरह वीडियो कॉलिंग की जा सकेगी. इसके अलावा यूजर्स रियल टाइम में टेक्स्ट, मैसेज, वीडियो, फोटो और ऑडियो क्लिप फ्रेंड्स के साथ शेयर कर सकेंगे. इसके अलावा बता दें कि इस ऐप में लोकेशन शेयरिंग का भी फीचर है. ऐप को लेकर दावा किया गया है कि यह ऐप पूरी तरह से सेफ है और इसमें ऐड भी नहीं दिखेंगे.