धोखेबाजों ने मुंबई की एक निवेश बैंकिंग एनालिस्ट को 87,000 रुपये का चूना लगाया है, जो यूनीफाइड पेमेंट्स इंटरफेस ( UPI) आधारित डिजिटल भुगतान प्लेटफार्म से तीन बीयर ऑनलाइन खरीद रही थी। खबरों के मुताबिक, राधिका पारे ने स्टार वाइन शॉप के लिए सूचीबद्ध एक कॉन्टैक्ट नंबर को फोन लगाया था। उन्होंने पवई में शराब की दुकान को गूगल पर सर्च किया था।
स्टोर के कर्मचारी ने उनसे फोन पर कहा कि वे गूगल पे के माध्यम से 420 रुपये का भुगतान कर दें और उनसे उनका यूपीआई आईडी पूछा। जब पारेख ने अपना आईडी उन्हें बताया तो उन्हें गूगल पे पर भुगतान का अनुरोध मिला, जिसे स्वीकार करते ही 29,001 रुपये उनके खाते से कट गए।

जब उन्होंने शराब की दुकान को फोन किया तो कर्मचारी ने माफी मांगते हुए कहा कि भूल से ऐसा हुआ। जब उन्होंने कॉल रखा तो तब तक उनके खाते से 58,000 रुपये और कट चुके थे। पुलिस के मुताबिक, जब पारेख उस शराब की दुकान पर पहुंची तो वहां दुकान के मालिक ने उनसे कहा कि जिस नंबर पर उन्होंने कॉल की थी, वह उनका नहीं है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच जारी है। इससे पहले मई में, मुंबई के साकीनाका निवासी अनिल पदम सिंह (23) ने डिजिटल वॉलेट खाते से 1 लाख रुपये गंवा दिए थे, जब उन्होंने नए मोबाइल फोन के ईएमआई के लिए एक वित्तीय कंपनी को फोन किया था।

ऑनलाइन पेमेंट करते समय लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए। इसके अलावा यह भी ध्यान रखना चाहिए कि भारत में एल्कोहल ऑनलाइन बेचने पर पाबंधी है। ऐसे में जो यह ऑनलाइन बीयर बेचने का बिजनेस कर रहा है वह इल-लीगल है।