सरकारी स्वामित्व वाली टेलीकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) लगातार अपने प्लान्स में बदलाव  कर रह है। कंपनी पहले अपने कस्टमर्स को कार्ड की वैलिडिटी बढ़ाने के लिए 15 दिनों का वक्त देती थी। अब कंपनी ने इस टाइम को कम करते हुए सात दिन कर दिया है। यानी अब कार्ड की वैलिडिटी एक्सपायर होने पर BSNL यूजर्स को रिचार्च के लिए सिर्फ सात दिनों का वक्त मिलेगा। यानी सात दिनों के अंदर रिचार्ज नहीं करवाने पर बीएसएनएल कस्टमर्स को मिलने वाली सेवाएं जैसे इनकमिंग और आउटगोइंग सर्विसेस बंद हो जाएंगी। यदि BSNL कस्टमर्स जिनकी मोबाइल पर बैलेंस बचा रहेगा और उनकी वैलिडिटी खत्म हो जाती है तो 7 दिनों के अंदर रिचार्ज करने पर ही ये बचा हुआ अमाउंट यूजर्स के अकाउंट में एड किया जाएगा। सात दिनों बात ये बचा हुआ अमाउंट लैप्स हो जाएगा।

इसके साथ ही यदि बीएसएनएल कस्टमर्स 60 दिनों तक यानी दो महीने तक रिचार्ज नहीं करवाते हैं तो ऐसे कस्टमर्स का प्रीपेड कनेक्शन डिस्कॉनेक्ट हो जाएगा। सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी इन दिनों अपने कॉस्टमर बेस को बढ़ाने के लिए की सारे बेनिफिट यूजर्स को दे रही है। कंपनी अपने अलग-अलग प्लान्स के साथ ऑनलाइन कॉन्टेंट प्रोवाइडर जैसे अमेजन प्राइम वीडियो, अमेजन और दूसरे सब्सक्रिप्शन यूजर्स को दे रही है। हालांकि, कंपनी इन दिनों घाटे में भी चल रही है, जिसके चलते कंपनी अपने रेवेन्यू को बढ़ाने पर काम कर रही है। वैलिडिटी रिचार्ज पर मिलने वाले 15 दिनों के ग्रेस टाइम को घटा कर सात दिनों का करने के पीछे यही वजह है।

बता दें कि देश में दूरसंचार उपभोक्ताओं की संख्या अप्रैल में मामूली बढ़कर 118.37 करोड़ पर पहुंच गई थी। इस दौरान रिलायंस जियो और बीएसएनएल ने संयुक्त रूप से 83.1 लाख नए ग्राहक जोड़े। लेकिन इस दौरान भारती एयरटेल, टाटा टेलीसर्विसेज, वोडाफोन आइडिया, एमटीएनएल और रिलायंस कम्युनिकेशंस के ग्राहकों की संख्या कम हुई।  इस दौरान जियो के ग्राहकों की संख्या 80 लाख से अधिक बढ़कर 31.48 करोड़ हो गई। बीएसएनएल के ग्राहकों की संख्या 2.32 लाख बढ़कर 11.58 करोड़ पर पहुंच गई।