BSNL (भारत संचार निगम लिमिटेड) अपने ग्राहकों की संख्या बढ़ाने के लिए लगातार नए-नए प्लान पेश कर कर रही है। इसी क्रम में कंपनी ने अपने ग्राहकों नए ऑफर, कंटेंट ऑफरिंग और दूसरी सर्विसेस का फ्री सब्सक्रिप्शन्स ऑफर कर रही थी। लेकिन, कंपनी के हालिया कदम से कई BSNL यूजर्स को निराशा हो सकती है। कंपनी ने अब अपने अनलिमिडेट कॉलिंग वाले प्लान पर कैप लगाने की घोषणा की है। यानी बीएसएनएल के प्रीपेड प्लान अब अनलिमिटेड कॉलिंग बेनिफिट्स के साथ नहीं आएंगे।

जानकारों का मानना है कि भारतीय टेलीकॉम इंडस्ट्री में बढ़ते प्रतिस्पर्धा के बीच सरकारी स्वामित्व वाले बीएसएनएल के लिए यह कदम आत्मघाती हो सकता है। टेलीकॉम टॉक की रिपोर्ट के मुताबिक, BSNL द्वारा जारी किए गए नए नोटिफिकेशन के मुताबिक कंपनी के 186, 429, 485, 666 और 1,699 रुपये के मूल्य वाले प्रीपेड प्लान्स पर अब यूजर्स को अनलिमिडेट कॉलिंग का बनिफिट नहीं मिलेगा।

अब से इन प्लान्स के साथ बीएसएनएल यूजर्स को 250 मिनट तक की आउटगोइंग कॉल्स मिलेंगी, जोकि लोकल, नेशनल और बीएसएनएल के नेटवर्म में रोमिंग के दौरान यूज किए जा सकेंगे। इसके अतिरिक्त दूसरे नेटवर्क पर रोमिंग में नेटवर्क प्रोवाइडर द्वारा वसूले जाने वाला शुल्क यूजर्स को देना होगा। डेली 250 मिनट की लिमिट खत्म हो जाने के बाद यूजर्स के कॉलिंग के लिए 1पैसा प्रति सेकेंड की दर से शुल्क लिया जाएगा। सब्सक्राइबर्स के अकाउंट में मध्यरात्री को कॉलिंग मिनट एड कर दिए जाएंगे जो कि अगली मध्यरात्री तक वैध होंगे।

बता दें कि भारत में मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो ने फ्री अनलिमिटेड कॉलिंग का बेनिफिट देना शुरू किया था। जियो की एंट्री से पहले भारत में काम कर रही टेलीकॉम कंपनियां अपने ग्राहकों को कॉलिंग के लिए डेली 250 मिनट या हफ्ते के 1000 मिनट ऑफर करती थी। लेकिन जियो के आने के बाद उन्होंने अपने प्लान्स से ये कैप हटा दी थी। ऐसे में बीएसएनल का अनलिमटेड कॉलिंग खत्म करना कंपनी के ग्राहकों को निराश कर सकता है।