हाईटेक की इस दुनिया में कट-कॉपी और पेस्ट एक ऐसा टर्म है, जिसके बिना हमारे कई जरूरी काम रुक सकते हैं. इस कमांड के बिना कंप्यूटर पर काम करना काफी मुश्किल है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये कट-कॉपी और पेस्ट की थियोरी किसने दी थी. अगर नहीं तो आज हम आपको उनके बारे में बताते हैं. Cut-Copy-Paste का जुगाड़ देने वाले साइंटिस्ट का नाम लैरी टेस्लर था. लैरी टेस्लर का आज यानी 20 फरवरी 2020 को निधन हो गया है. आज हम आपको उनकी इस थियोरी के बारे में डिटेल में बताएंगे-

74 साल की उम्र में हुआ निधन
कट, कॉपी और पेस्ट यूजर इंटरफेस को लैरी टेस्लर ने तैयार किया था. 74 साल की उम्र में लैरी का निधन हो गया है. उनका जन्म न्यू यॉर्क में हुआ था. इन्होंने अपनी पढ़ाई स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में पूरी की थी. इसके बाद उन्होंने साल 1973 में Xerox Palo Alto Research Center (PARC) ज्वाइन किया. इसके बाद स्टीव जॉब्स का ऑफर मिलने के बाद उन्होंने 17 साल तक एप्पल में काम किया और चीफ साइंटिस्ट के पद तक पहुंचे.

इन कंपनियों के साथ भी किया काम
आपको बता दें एप्पल छोड़ने के बाद उन्होंने एक एजुकेशन स्टार्ट अप की शुरुआत की. इसके अलावा उन्होंने अमेजन और याहू के साथ भी काम किया.

लोगों के काम को बनाया आसान
आज के समय में कंप्यूटर पर काम करते समय कट कॉपी और पेस्ट की वैल्यू के बारे में तो हम सभी लोग अच्छे से जानते हैं. इस कमांड के बिना कंप्यूटर पर काम करना मुमकिन नहीं है. इस नई टेक्निक से लोगों के लिए पर्सनल कंप्यूटर इस्तेमाल करना काफी आसान हो गया था. इसके अलावा उन्होंने फाइंड और रिप्लेस जैसी कई कमांड बनाई जिनसे टेक्स्ट लिखने से लेकर सॉफ्टवेयर डेवलप करने जैसे कई काम आसान हो गए.

PARC में किया था डेवलेप
आपको बता दें कि लैरी टेस्लर अपने CV में लिखते ते कि वह मोडलेस एडिटिंग और कट कॉपी पेस्ट के शुरुआती इन्वेंटर हैं. हालांकि, उन्होंने CV में ये भी लिखा था कि उन्हें गलती से फादर ऑफ ग्राफिकल यूजर इंटफेस फॉर मैकिनतॉश कहा गया, लेकिन वो नहीं हैं. लैरी टेस्लर ने PARC में ही कट, कॉपी और पेस्ट डेवेलप किया. हालांकि बाद में ये कट, कॉपी और पेस्ट का कॉन्सेप्ट कंप्यूटर के इंटरफेस और टेक्स्ट एडिटर्स के लिए आ गया.