दिल्ली में एयर पॉल्यूशन खतरनाक लेवल पर चल रहा है, ऐसे में इसे कम करने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा शुरू की गई odd-even स्कीम आज यानी 4 नवंबर से शुरू हो गई है। दिल्ली सरकार ने इस स्कीम को सबसे पहले 2016 में लॉन्च किया था। यह एक कार रोटेटिंग सिस्टम है जहां ऑड और ईवन नंबर वाली कार प्लेट्स ऑल्टरनेट डेज इंप्लीमेंट होती है। हम आज आपको यह नियम से संबंधित  सभी जानकारी दे रहे हैं।

Here is all you need to know about odd-even scheme

दिल्ली सरकार की ऑड ईवन स्कीम का पहला फेज आज 4 नवंबर से शुरू हो गया है, जो 15 नवंबर तक चलेगा। इस स्कीम के तहत जिन गाड़ियों के लास्ट डिजिट नंबर ऑड हैं वह ऑड तारीख वाले दिन चलेगी। वहीं जिन गाड़ियों के लास्ट डिजिट नंबर ईवन है वह ईवन तारीख वाले दिन चलेगी। यह नियम सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक यानी 12 घंटे तक चलेगा। रविवार को यह नियम लागू नहीं होगा। यह नियम सभी चार पहिया व्हीकल के लिए लागू होगा। फिर चाहे गाड़ी किसी दूसरे राज्य की क्यों न हो।

 

 

महिलाओं को छूट

दिल्ली सरकार की ऑड ईवन स्कीम में टू व्हीलर्स को छूट दी गई है। इसके अलावा जो महिलाएं अकेले गाड़ी ड्राइव कर रही हैं उन्हें भी इस नियम से छूट है। वह अपने साथ 12 साल से कम उम्र के ही बच्चों को बिठाकर ही गाड़ी ड्राइव कर सकती है। इसके अलावा मेडिकल इमरजेंसी और स्कूल बच्चों को ले जाने के लिए भी इस नियम में छूट दी गई है। CNG व्हीकलों को भी इस बार छूट नहीं दी गई है।

नियम तोड़ने पर कितना लगेगा फाइन

ऑड ईवन नियम तोड़ने पर 4 हजार रुपये का फाइन लगाया जा सकता है। इससे पहले यह फाइन 2 हजार रुपये का था।इसके अलावा कैब एग्रीगेटर उबर और ओला को भी हिदायत दी गई है कि वह प्राइस न बढ़ाए। दिल्ली सरकार ने इस दौरान 2 हजार से अधिक बसों को और सड़कों पर उतार दिया है।

 

 

कैसे बचे, जिससे सफर में न हो परेशानी

इस नियम से बचने के लिए आप ओला और उबर कैब का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा मेट्रो और बसें भी आपके लिए एक ऑप्शन हो सकते हैं।