सैन फ्रांसिस्कोः न्यूजीलैंड में मस्जिदों पर हमले की फेसबुक पर लाइव स्ट्रीमिंग की घटना के बाद फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म पर इसके नियम और कड़े बना दिए हैं, जो विशेष रूप से इसके लाइव कैमरा फीचर से जोड़ दिए गए हैं. फेसबुक की संशोधित नीतियों के अंतर्गत जो व्यक्ति फेसबुक की सबसे गंभीर नीतियों का उल्लंघन करता है, उसे एक निश्चित समय के लिए लाइव स्ट्रीमिंग करने से प्रतिबंधित (जैसे पहली बार इसका उल्लंघन करने पर 30 दिनों के लिए) कर दिया जाएगा. Also Read - Facebook ने पेश किया म्यूजिक वीडियो मेकिंग ऐप, Tik Tok ही तरह करेगा काम

फेसबुक के इंटीग्रिटी विभाग के उपाध्यक्ष गाय रोसन ने मंगलवार को एक ब्लॉग लिखा, “अपराधों की बढ़ती संख्या को देखते हुए हम लाइव में अब एक वन स्ट्राइक नीति लागू करेंगे. उदाहरण के लिए, अगर कोई किसी आतंकवादी संगठन द्वारा जारी बयान का लिंक साझा करता है, उसे तत्काल प्रभाव से एक निश्चित समय के लिए लाइव फीचर का उपयोग करने से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा.” Also Read - आ गया Facebook Shop, वर्चुअल दुकान से करें खरीदारी, जानें कैसे...?

न्यूजीलैंड के क्राइस्ट चर्च शहर में दो मस्जिदों पर मार्च में हुए हमलों का फेसबुक पर लाइव स्ट्रीम चलने के बाद, फेसबुक ने दावा किया है कि इसके 24 घंटों के अंदर उसने खुद क्राइस्टचर्च हमले के लगभग 15 लाख वीडियो नष्ट किए थे. फेसबुक ने यह भी कहा कि उसने 12 लाख वीडियो को अपलोड होने के बाद प्रतिबंधित कर दिया था, जिसके बाद वे वीडियो यूजर्स नहीं देख पाए होंगे. क्राइस्टचर्च हमलों में 51 लोगों की मौत हो गई थी. हमले का मूल वीडियो प्लेटफॉर्म से हटाने से पहले 4,000 बार देखा जा चुका था. Also Read - 'दलितों और महिलाओं के प्रति 'नफरत फैलाने' वालों पर हो कार्रवाई, ट्विटर, वाट्सऐप, फेसबुक उठाएं कदम'