नई दिल्ली: फेसबुक ने डाटा साझा करने के लिए अलीबाबा, हुआवेई, लेनेवो और ओपो जैसी चीनी कंपनियों समेत विश्व की प्रौद्योगिकी क्षेत्र की 52 कंपनियों के साथ साझेदारी की थी. फेसबुक ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की ऊर्जा और वाणिज्य समिति के सवालों के ताजा जवाब में इस बात का खुलासा किया है. ‘एंडगैजेट’ की शनिवार की रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक ने समिति द्वारा उठाए गए सवालों का जवाब 747 पृष्ठ में देते हुए कहा कि उसने पहले ही इनमें से 38 कंपनियों के साथ साझेदारी समाप्त कर दी है और सात और कंपनियों के साथ उसकी साझेदारी जुलाई में समाप्त हो जाएगी. इसके बाद इस साल अक्टूबर में एक और कंपनी के साथ उसकी साझेदारी समाप्त होगी.

इन कंपनियों के साथ अभी भी साझेदारी

हालांकि सोशल मीडिया कंपनी ने बताया कि ऐपल, अमेजन और टोबी के साथ साझेदारी अक्टूबर के बाद भी जारी रहेगी. फेसबुक ने कहा कि 2014 में उसने सख्त साझेदारी नियंत्रण लागू किया और तीसरे पक्ष, ऐप डेवलपर को नये नियमों का पालन करने के लिए एक साल का समय दिया था. रिपोर्ट के अनुसार, हालांकि 61 कंपनियों को डाटा संग्रह रोकने के लिए छह महीने का अतिरिक्त समय दिया गया था.

रिपोर्ट में कहा गया है कि चिंता की बात यह है कि फेसबुक डाटा साझा करने के लिए अमेरिकी फेडरल ट्रेड कमीशन द्वारा साइट के लिए जरूरी अनुमति से बाहर जाकर शब्दों की व्याख्या कर रहा है. हालांकि फेसबुक ने अपने जवाब में दावा किया है कि वह आदेश का उल्लंघन नहीं कर रहा है.