नई दिल्ली: सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा यूजर्स के डाटा का गलत इस्तेमाल करने के बाद अपने प्लेटफॉर्म पर मौजूद करीब 200 ऐप हटा दिए हैं. फेसबुक प्रोडक्ट पार्टनरशिप के उपाध्यक्ष इमे आर्किबोंग ने सोमवार को ऑनलाइन बयान में कहा कि मामले की जांच की प्रक्रिया जोरों पर है. हमारे पास इन एप्स की जांच करने के लिए कड़ी मेहनत करने वाले आंतरिक और बाहरी विशेषज्ञों की बड़ी टीमें हैं. यह टीम जितनी जल्दी हो सके इस काम को पूरा करने में लगी है. अब तक हजारों ऐप की जांच की जा चुकी है और करीब 200 ऐप हटा दिए गए हैं. इस बात की पूरी तरह से जांच जारी है कि इन ऐप ने वास्तव में किसी भी डाटा का दुरुपयोग किया है या नहीं. Also Read - पक्षपात का आरोप झेल रहीं अंखी दास ने दिया फेसबुक से इस्तीफा, जानिए क्या है पूरा मामला

फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने डाटा चोरी का मामला सामने आने के बाद डाटा का गलत इस्तेमाल करने वाले ऐप की पड़ताल करने की बात कही थी. इसका मकसद यूजर्स तक इन ऐप की पहुंच को घटाना था. बता दें कि फेसबुक के 8.7 करोड़ यूजर्स का डाटा चोरी कर राजनीतिक फायदे के लिए उसका उपयोग करने के आरोप लगने के बाद से कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी विवादों में है. डाटा चोरी कैसे हुआ फेसबुक इसकी जांच कर रहा है. Also Read - Data Controversy: संसद की समिति ने फेसबुक, ट्विटर को भेजा समन

बता दें कि डेटा लीक मामले में घिरी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने अपने प्रबंधन में फेरबदल की भी पुष्टि की है. कंपनी के सह- संस्थापक मार्क जुकरबर्ग फेसबुक के प्रमुख बने रहेंगे. साथ ही नंबर दो की भूमिका में मुख्य परिचालन अधिकारी ( सीओओ) शेरिल सैंडबर्ग रहेंगी. लंबे समय से जुकरबर्ग की टीम का हिस्सा रहे क्रिस कॉक्स को फेसबुक के कोर एप्लीकेशंस के साथ- साथ स्मार्टफोन सेवाओं इंस्टाग्राम, व्हॉट्सएप और मैसेंजर की जिम्मेदारी दी गई है. कंपनी ने इसकी पुष्टि की. फेसबुक के प्रमुख अधिकारियों के कामों में फेरबदल की जानकारी सबसे पहले प्रौद्योगिकी समाचार वेबसाइट रीकोड ने दी. Also Read - Facebook Neighborhoods Feature: Facebook ला रहा खास फीचर, पड़ोसियों के बारे में जानना होगा आसान

फेसबुक ने अपनी उत्पादन और इंजीनियरिंग टीम को तीन इकाइयों में परिवर्तित किया है , इसमें उभरती हुई प्रौद्योगिकी से जुड़ा विभाग भी शामिल है , जो कि क्रिप्टोकरेंसी के लिए इस्तेमाल होने वाली ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी पर ध्यान केंद्रित करेगा.

चार वर्ष तक फेसबुक मैजेंसर की जिम्मेदारी संभालने वाले डेविड मर्कस ने अपने पोस्ट में कहा कि वह ‘फेसबुक में ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने के तरीके तलाशने के लिए एक छोटा समूह गठित कर रहे हैं.’ अमेरिकी मीडिया में आयी खबरों के मुताबिक, एक दर्जन से अधिक अधिकारियों के कामों में बदलाव किया गया है.