नई दिल्लीः कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते देश भर में लगे लॉकडाउन (Lockdown) को एक महीने से ज्यादा का समय हो गया है और अभी यह 17 मई तक जारी रहेगा. ऐसे में घर में बैठे लोग तरह-तरह से अपना मनोरंजन करने की कोशिश कर रहे हैं. कोई घर के काम करके, परिवार के साथ समय बिता के और टीवी देखकर अपना समय काट रहा है तो किसी ने ऑनलाइन गेम को अपने लॉकडाउन के समय का टाइमपास बना लिया है. ऐसे में आज कल लूडो (Ludo) लोगों का फेवरेट गेम बन चुका है. लेकिन, क्या आपको शायद ही यह पता होगा, कि यह गेम आपको कंगाल बनाने के साथ ही सलाखों के पीछे भी पहुंचा सकता है.Also Read - Omicron Cases Update: अब महाराष्‍ट्र में मिला ओमीक्रोन का नया केस, देश में अब तक कुल 4 केस

दरअसल, यह गेम इन दिनों सट्टेबाजी का नया साधन बन गया है. लोग ऑनलाइन पैसे इंवेस्ट करके ये गेम खेल रहे हैं. कई बार टेलीग्राम और वॉट्सएप ग्रुप पर भी लूडो खेलने वालों को एड कर लिया जाता है. ऐसे में कोई भी इंसान यही सोचता है कि यह तो एक गेम का ग्रुप है. लेकिन, इस बीच कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इनके जरिए ना सिर्फ आपके मोबाइल से आपकी सारी प्राइवेट जानकारी निकाल सकते हैं. बल्कि आपका बैंक अकाउंट भी खाली कर सकते हैं. Also Read - Delhi COVID19 Update: Omicron के भय के बीच दिल्‍ली में कोरोना के 51 नए मामले आए

यही नहीं वॉट्सएप और टेलीग्राम में ऑनलाइन गेम खेलने के लिए ग्रुप बनाने वाला एडमिन भी डिपॉजिट के बाद ही गेम खेलने की परमिशन देता है. जिसके चलते शर्त लगाई जाती है कि अब कौन जीतेगा और कौन हारेगा. ऐसे में जिसका प्रिडिक्शन सही होता है, उनमें ये पैसे बांट दिए जाते हैं. लेकिन, अगर बीच गेम आपका नेट खतम हो गया, या फोन हैंग हो गया तो दोबारा गेम शुरू करना होगा और फिर रुपए डिपॉजिट करने होंगे. ऐसे में धीरे-धीरे कर कब आप ऑनलाइन गेम से सट्टेबाजी की तरफ बढ़ जाते हैं आपको पता भी नहीं चलता. Also Read - Omicron Update: दिल्‍ली के LNJP में भर्ती 12 विदेशियों की सेहत से जुड़ा ताजा अपडेट

वहीं ऑनलाइन पेमेंट के जरिए कई बार आपकी पर्सनल जानकारी ग्रुप के अन्य सदस्यों तक भी पहुंच जाती है. जिसके चलते साइबर क्राइम की संभावनाएं भी बढ़ जाती हैं. बता दें मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में हाल ही में पुलिस ने ऐसे ही गैंग का पर्दाफाश किया है, जो लूडो के जरिए ऑनलाइन सट्टेबाजी कर रहे थे.