नई दिल्ली: गूगल ‘पिक्सल 3’ और ‘पिक्सल 3एक्सएल’ शानदार कैमरा वाले फोन थे, लेकिन ज्यादा नहीं बिक सके. कंपनी ने 40-50 हजार रुपए की रेंज में दबदबा बनाने वाली कंपनी वनप्लस को टक्कर देने के लिए अपेक्षाकृत सस्ते ‘पिक्सल 3ए’ और ‘3एएक्सएल’ पेश किए हैं. नेक्सस फोन 2016 में पिक्सल के अपनी ही कीमत के स्मार्टफोन्स के पक्ष में होने के कारण कंपनी ने अपने साझेदारों की डिवाइसेज की रीब्रांडिंग नहीं करने का फैसला किया है.

‘पिक्सल 3ए’ और ‘3एएक्सएल’ को कंपनी द्वारा नेक्सस की रेंज के फोन बनाने का प्रयास माना जा रहा है. इनमें कंपनी के प्रमुख ‘पिक्सल 3’ और ‘पिक्सल 3 एक्सएल’ जैसे शानदार कैमरे हैं. हमने दो दिनों तक 64जीबी ऑनबोर्ड स्टोरेज और चार जीबी रैम वाले ‘पिक्सल 3एएक्सएल’ (44,999 रुपए) का दो दिनों तक उपयोग किया. ‘पिक्सल 3एएक्सएल’ में प्राइमरी कैमरा ‘पिक्सल 3एक्सएल’ जैसा ही है जो 12.2 मेगापिक्सल सेंसर के साथ एफ/1.8, ड्यूअल पिक्सल फेस-डिटेक्शन ऑटोफोकस और ऑप्टिकल स्टेबलाइजेशन की सुविधा है.

किफायती नोकिया 4.2 भारत में लांच, 32 जीबी इंटरनल मेमोरी, ये है कीमत

कैमरा की डायनमिक रेंज और लो-लाइट परफॉर्मेस अच्छे हैं. कैमरा एप में फोकस ट्रैकिंग की बात करना जरूरी है जो मूल फेस डिटेक्शन करता है. अगर आप किसी सब्जेक्ट पर उंगली रखते हैं तो कैमरा उसे ट्रैक करने लगेगा भले ही वह गतिशील हो, लेकिन उसका फोकस और एक्सपोजर अपने आप एडजस्ट होने लगेगा. फ्रंट कैमरे में ‘पिक्सल 3’ के अल्ट्रा-वाइड कैमरे की कमी महसूस होती है. इसमें सिंगल आठ मेगापिक्सल लेंस है जिसमें अब ‘1.12 माइक्रोमीटर पिक्सल’ चौड़ाई और फिक्स्ड फोकस और 84 डिग्री व्यू वाला ‘एफ/2.0 एपेर्चर’ है.

‘पिक्सल 3एएक्सएल’ में ‘पिक्सल 3’ के समान डिजायन है जो टू-टोन फिनिशिंग के साथ है, यद्यपि इसकी पॉलीकार्बोनेट यूनीबडी लुक के साथ समान डिजायन है. ‘पिक्सल 3एएक्सएल’ में ‘1080पी ओएलईडी डिस्प्ले’ के साथ छह इंच की स्क्रीन है जिसे कॉर्निग गोरिल्ला ग्लास की अपेक्षा ‘एशाही ड्रैगनट्रायल ग्लास’ से प्रोटेक्ट किया गया है. इसकी स्क्रीन पिक्सल 3एक्सएल की स्क्रीन से कुछ छोटी है और इसमें ‘एचडीआर10’ सपोर्ट नहीं है. स्मार्टफोन एंड्रोएड 9.0 ओएस पर चलता है जिसपर ‘पिक्सल 3’ चलता है. इसमें 3.5 एमएम हैडफोन जैक है और स्टीरियो स्पीकर्स हैं. ‘पिक्सल 3एएक्सएल’ में 3,700 एमएएच की बैटरी है वहीं ‘पिक्सल 3एक्सएल’ में सिर्फ 3,430 एमएएच की बैटरी थी. कुल मिला कर यह आधी कीमत में बेहतर बैटरी और समान पिक्सल कैमरा प्रदान करता है.