Google Meet, Classroom and Chrome New Features: Google ने एजुकेशन को सपोर्ट करने के लिए अपने एजुकेशन प्रोडक्ट्स (Google education products) में नई फीचर्स को जोड़ा है. गूगल ने अपने गूगल मीट (Google Meet), क्लासरूम (Google Classroom) और क्रोम (Google Chrome) के लिए नई 50 से अधिक नई फीचर्स की घोषणा की है. Also Read - Google का यह ऐप हो रहा है बंद, जल्दी Backup लें, वरना डेटा हो जाएगा डिलीट

कैलिफोर्निया स्थित टेक दिग्गज ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि वह गूगल वर्कस्पेस, क्लासरूम, मीट, क्रोम ओएस और अन्य को यूजर्स के लिए अधिक सुविधाजनक बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत है. इसने हाल ही में अपने G Suite का नाम बदलकर Google Workspace किया था. Google Workspace में जीमेल, मीट, और चैट समेत अन्य सुविधाएं एक ही जगह दी जाएंगी. Also Read - Google Fit App: गूगल लेकर आया शानदार फिट ऐप, कैमरे की सहायता से मापे हार्ट और ब्रीथिंग रेट

गूगल ने अपनी ऑरिजिनल स्टोरेज पॉलिसी में बड़ा बदलाव किया है. पहले कंपनी योग्यता प्राप्त स्कूलों और विश्वविद्यालयों को अनलिमिटेड स्टोरेज की सुविधा देती थी लेकिन अब नई नीति के तहत स्कूलों और विश्वविद्यालयों को 100टीबी क्लाउड स्टोरेज ही मिलेगा. Google ने कहा कि यह 100 मिलियन डॉक्यूमेंटस, 8 मिलियन प्रजेंटेशन या 400,000 घंटे के वीडियो के लिए पर्याप्त होगा. गूगल की यह पॉलिसी जुलाई 2022 में लागू होगी. Also Read - 'Bigg Boss 14': गूगल ने बताया कौन जीतेगा 'बिग बॉस 14', लेकिन फैंस को करना होगा बस इतना इंतजार

Google क्लासरूम के लिए नए टूल (New Tools for Google Classroom)

Google के मुताबिक 150 मिलियन छात्र और शिक्षक Google Classroom के साथ जुड़े हुए हैं. इसे देखते हुए कंपनी अब नई फीचर्स लेकर आ रही है. नए ऐड-ऑन ऑप्शन के साथ, क्लासरूम अब टीचर्स को अपने पसंदीदा EdTech टूल और कंटेंट चुनने की अनुमति देगा, और इसे अतिरिक्त लॉग-इन के बिना सीधे क्लासरूम के अंदर छात्रों को असाइन करेगा.

अब Admins अपने स्टूडेंट इन्फॉर्मैशन सिस्टम (Student information system) से सीधे क्लासरूम को क्लासेस बनाने और रोस्टरों को वितरित करने में सक्षम होंगे. यानी की अब गूगल मीट पर एडमिन तय कर पाएंगे कि कौन सा स्टूडेंट क्लास या मीटिंग को ज्वाइन कर पाएगा.

गूगल ने बताया कि क्लासरूम में मीटिंग्स शुरू होती है, तब स्टूडेंट्स टीचर के सामने शामिल नहीं हो पाएंगे. मीट में यह भी पता चल जाएगा कि क्लास के रोस्टर में कौन है.

इसलिए क्लास में सिर्फ स्टूडेंट्स और टीचर ही शामिल हो पाएंगे. क्लास में हर टीचर के पास मीटिंग होस्ट करने के डिफॉल्ट राइट्स होंगे. ऐसे में मीटिंग में मल्टीपल टीचर्स हैं तब वे क्लास के लोड को मैनेज करने के लिए शेयरिंग कर पाएंगे. क्लासरूम में शुरू होने वाली मीटिंग्स मल्टीपल होस्ट का सपोर्ट करेंगी. Google क्लासरूम छात्र की ट्रैकिंग पर भी ध्यान देगा, छात्रों को ऑफलाइन काम करने, असाइनमेंट रिव्यू करने और होमवर्क को आसानी से सबमिट करने के तरीकों में सुधार करने के लिए क्लासरूम एंड्रॉइड को अपडेट करेगा.

Google मीट के लिए नई फीचर्स (New features for Google Meet)

शिक्षकों को अपने ऑनलाइन क्लासेस पर अधिक कंट्रोल देने के लिए, Google मीट ने सभी के लिए मीटिंग को एंड करने की क्षमता और सभी को जल्दी से एक बार म्यूट करने का विकल्प जोड़ा है. गूगल मीट (Google Meet) में म्यूट फॉर ऑल फीचर जोड़ा है. इससे टीचर एक साथ सभी स्टूडेंट को म्यूट कर सकेंगे. इससे उन्हें पढ़ाने में आसानी होगी. नए फीचर में स्टूडेंट खुद को अनम्यूट नहीं कर पाएंगे. सिर्फ टीचर के पास ही उन्हें अनम्यूट करने का ऑप्शन होगा

इसके अलावा अब टीचर्स मीटिंग खत्म होने के बाद सभी कॉल को एक साथ एंड कर पाएंगे. अभी टीचर के कॉल से लेफ्ट होने के बाद भी स्टूडेंट्स क्लासरूम में जुड़े रहते हैं.