गूगल ने दो साल पहले लॉन्च किए गए अपने जॉब एप्लीकेशन ट्रैकिंग सिस्टम ‘गूगल हायर’ को बंद करने का फैसला लिया है। यह जानकारी कंपनी ने एक बयान के जरिए दी। कंपनी ने पूर्व एल्फाबेट बोर्ड के सदस्य डायने ग्रीन के साथ मिलकर ‘हायर’ का निर्माण किया था। टेकक्रंच द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, इसे बनाने का एकमात्र उद्देश्य हायरिंग प्रक्रिया को सरल बनाना था, जिसमें वर्कफ्लो के साथ आवेदक की खोज कर उनके साक्षात्कार को गूगल के जी सूट के सर्च, जीमेल, कैलेंडर, डोक्स के लिए शेड्यूल किया जाता था।
2015 में रिपोर्ट किए गए 38 करोड़ डॉलर के लिए ग्रीन द्वारा शुरू की गई कंपनी – बेबोप के अधिग्रहण के बाद ‘हायर’ को लॉन्च किया गया। ग्रीन ने इस साल की शुरुआत में एल्फाबेट बोर्ड छोड़ दिया था।

गूगल ने अपने एक बयान में कहा, “जब ‘हायर’ सफल हो रहा था, तब हम अपने संसाधनों को गूगल क्लाउड पोर्टफोलियो में अन्य उत्पादों पर केंद्रित कर रहे थे। हम अपने ग्राहकों के साथ-साथ चैंपियन और एडवोकेट्स के प्रति बहुत आभारी हैं, जिन्होंने हमारे साथ जुड़कर हमें समर्थन दिया है।” लोग अभी भी एक और वर्ष के लिए ‘हायर’ का इस्तेमाल करते रहेंगे और 1 सितंबर, 2020 को सेवा बंद हो जाएगी। गूगल इस सेवा में कोई नया अपडेट नहीं लाएगा।

वहीं YouTube की डायरेक्ट मैसेजिंग सर्विस भी अब जल्द ही बंद होने वाली है। कंपनी का यह चैट फीचर यूजर्स के बीच ज्यादा पॉप्युलर नहीं हो पाया, इसलिए कंपनी अब इस फीचर को जल्द ही बंद करने वाली है। YouTube ने अगस्त 2017 को इस मैसेज फीचर को मोबाइल ऐप्स पर शुरू किया था। इसके बाद इस फीचर को वेब के लिए भी शुरू कर दिया गया था। अब दो साल बाद गूगल ने घोषणा की है कि वह अगले महीने से बिल्ट इन चैटिंग फंक्शन को बंद कर देगी। कंपनी ने कहा कि अगले महीने की 18 तारीख यानी 18 सितंबर से ये सर्विस बंद कर दी जाएगी।