स्मार्टफोन का इस्तेमाल कॉलिंग और मैसेजिंग से ज्यादा आज गेमिंग और वीडियो देखने के लिए ज्यादा किया जाता है. यहां तक कि यूजर्स के बीच स्मार्टफोन ऑनलाइन शॉपिंग के लिए भी काफी इस्तेमाल होता है. ऐसे में आप कई ऐप्स का इस्तेमाल करते होंगे और Google Play Store एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां आपको अपनी जरूरत और पसंद के अनुसार कई ऐप्स मिल जाएंगे. अगर आप Google Play Store से ऐप्स डाउनलोड कर रहे हैं तो यह ध्यान रखें कि इनमें से कई फर्जी ऐप्स भी हो सकते हैं. जो कि आपके फोन और निजी डाटा को नुकसान पहुंचा सकते हैं. क्योंकि इस फर्जी ऐप्स के माध्यम से हैकर्स आपके फोन में मालीशस कोड डालते हैं और आपके फोन का पूरा एक्सेस उन्हें मिल जाता है. ऐसे में सबसे जरूरी है कि Google Play Store पर ऐप्स डाउनलोड करने से असली और नकली ऐप की पहचान कर लें. यहां हम आपको Google Play Store पर मौजूद असली और नकली ऐप की पहचान करने का तरीका बता रहे हैं.Also Read - 15,600mAh बैटरी वाला ये दमदार स्मार्टफोन 23 अगस्त को होगा लॉन्च, सिंगल चार्ज में पूरे हफ्ते चलेगा

डाउनलोड से पहले ऐप को चेक करें
Google Play Store से किसी भी ऐप को डाउनलोड करने से पहले उसे ठीक से चेक कर लें. क्योंकि नकली ऐप अक्सर असली ऐप से मिलते-जुलते होते हैं और उनमें बहुत छोटा सा अंतर देखने को मिलता है. इसलिए ऐप को ठीक से चेक करें कि कहीं आप कोई फर्जी ऐप तो डाउनलोड नहीं कर रहे हैं. फर्जी ऐप के नाम की स्पेलिंग या आइकन में गड़बड़ देखने को मिलेगी. Also Read - WhatsApp की इन 5 मजेदार ट्रिक्स के बारे में आप नहीं जानते तो एक बार जरूर करें ट्राई

डेवलपर को वेरिफाई करना है जरूरी
किसी भी ऐप को डाउनलोड करने से पहले Google Play Store पर उस ऐप के डेवलपर को वेरिफाई करना जरूरी है. क्योंकि फर्जी ऐप बनाने वाले अक्सर ओरिजनल ऐप के डेवलपर के नाम को कॉपी कर लेते हैं. ध्यान देने वाली बात है कि ओरिजनल ऐप के डेवलपर की डिटेल आसानी से मिल जाती है जबकि नकली ऐप बनाने वाले की डिटेल शो नहीं होती. Also Read - Infinix X1 40-Inch Android Smart TV: Infinix ने लॉन्च किया सस्ता स्मार्ट टीवी, मिलेगा इन-बिल्ट क्रोमकास्ट सपोर्ट

डाउनलोड की संख्या पर ध्यान दें
अगर आप Google Play Store से ऐप डाउनलोड कर रहे हैं तो एक बार उसके डाउनलोड्स की संख्या भी जरूर चेक कर लें. ओरिजनल ऐप की डाउनलोड संख्या करोड़ों में होगी जबकि फर्जी ऐप के डाउनलोड काउंट काफी कम होते हैं.

रिव्यू से भी मिलेगी मदद
असली और नकली ऐप की पहचान के लिए ऐप के रिव्यू पढ़ना बेहद जरूरी है. रिव्यू से आपको काफी हद तक ऐप की सच्चाई का अंदाजा हो जाता है. जिन ऐप्स की बहुत ज्यादा तारीफ की जा रही हो या उसके बारे में बहुत नेगेटिव बताया जा रहा हो तो उन पर जल्दी भरोसा न करें.