मोबाइल फोन का इस्तेमाल तो आज हर कोई कर रहा है और इसके माध्यम से आप कॉलिंग और (Mobile Number) कई खास फीचर्स भी उपयोग करते हैं. आप यह तो जानते ही होंगे कि (10 Digit Mobile Number) भारत में मोबाइल नंबर 10 अंकों के होते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर मोबाइल नंबर 10 अंकों के ही क्यों होते हैं? ये 11 या 13 अंक के क्यों नहीं हो सकते. (Reason For Being 10 Digit Mobile Number in India) तो बता दें कि इसके पीछे भी एक मुख्य वजह है जिसके कारण भारत में (MNP) मोबाइल नंबर 10 अंकों के होते हैं. हालांकि, साल 2003 तक भारत में 9 अंकों के मोबाइल नंबर हुआ करते थे लेकिन अब यह संख्या बदलकर 10 हो गई है.Also Read - Omicron को लेकर Google ने लिया बड़ा फैसला, रिटर्न-टू-ऑफिस का प्लान फिलहाल टला

इसलिए होता है 10 अंकों का मोबाइल नंबर
भारत में मोबाइल नंबर 10 अंकों के होते हैं और (10 Digit Mobile Number Which Country) इसके पीछे मुख्य वजह ‘राष्ट्रीय नंबरिंग योजना’ यानी NNP है. बता दें कि यदि मोबाइल नंबर एक डिजिट को होगा तो 0 से 9 तक केवल 10 अलग-अलग नंबर ही बन सकेंगे. जिसके बाद केवल कुल 10 नंबर बनेंगे और कुल 10 लोग ही इनका उपयोग कर सकेंगे. वहीं 2 अंकों का मोबाइल नंबर होने पर भी केवल 0 से 99 तक 100 नंबर ही बन सकेंगे और केवल 100 लोग ही इनका इस्तेमाल कर पाएंगे. Also Read - WhatsApp पर होगा अब यूजर्स का इलाज, एक मैसेज भेजते ही मिल जाएगा डॉक्टर, जानें कैसे करें इस सर्विस का उपयोग

जनसंख्या भी है एक मुख्य वजह
देश में 10 अंकों का मोबाइल नंबर होने की एक वजह जनसंख्या भी है. देश की आबादी 130 करोड़ है और ऐसे में 1 या 2 अंकों के डिजिट का मोबाइल नंबर केवल कुछ ही लोगों के लिए उपलब्ध होगा. यदि 9 अंकों का मोबाइल नंबर होगा तो एक लिमिट तक ही नंबर बनाए जा सकते हैं. जबकि केल्कुलेशन के हिसाब से 10 अंकों के लगभग 1000 करोड़ अलग-अलग मोबाइल नंबर बनाए जा सकते हैं. जिसके बाद 130 करोड़ लोगों को अलग-अलग नंबर बांटना आसान होगा. यही वजह है कि भारत में 10 अंकों का मोबाइल नंबर होता है. Also Read - Redmi Note 10S का नया वेरिएंट हुआ लॉन्च, जानिए कीमत कीमत से लेकर फीचर्स तक सबकुछ