नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच LAC पर तनाव बरकरार है. यह तनाव तब और बढ़ गया जब दोनों देशों की सेनाओं की हिंसक झठप में हमने अपने 20 जवानों को खो दिया. हालांकि इस झड़प में चीन के 43 सैनिकों को गंभीर नुकसान झेलना पड़ा. इनमें मरने वाले भी शामिल हैं. इसके बाद ही सोशल मीडिया पर लगातार कई खबरे कई कंटेंट लोग शेयर कर रहे हैं. इसी में एक संदेश यह भी शेयर किया जा रहा है कि सरकार ने कुछ चीनी ऐप्स को प्रतिबंधित करने का आदेश जारी किया है. Also Read - 59 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगाने से अमेरिका खुश, कहा- इससे भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा को मिलेगा बढ़ावा

सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे संदेश में बताया गया है कि राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र जोकि इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के अंतर्गत आता है ने एक आदेश जारी किया है. इसके तहत बताया जा रहा है कि गूगल प्ले स्टोर और ऐप्पल के ऐप स्टोर पर कुछ ऐप्लिकेशन्स को प्रतिबंधित करने का आदेश दिया गया है. इस बाबत सरकार का कहना है कि यह आदेश पूरी तरह फर्जी है. इस तरह का किसी प्रकार का आदेश Google और Apple को नहीं दिया गया है. Also Read - Chinese Apps Ban: चीन की भारत को धमकी- डोकलाम संकट से ज्यादा झेलना होगा नुकसान

सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे संदेश के अनुसार भारत सरकार ने गूगल और ऐप्पल के क्षेत्रीय कार्यकारी और प्रतिनिधियों को तत्काल प्रभाव से कुछ चीनी ऐप्स को प्रतिबंधित करने का आदेश दिया है. इन ऐप्लिकेशनों में Tik Tok, CamScanner, Club Factory, LiveMe, Beauty Plus, Bigo Live, VMate, Vigo Video, Shein, Romwe और AppLock जैसे बड़े ऐप भी शामिल हैं.

इस बाबत PIB ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट पर ट्वीट करते हुए पोस्ट को फर्जी (Fake Post) करार देते हुए कहा है कि इस तरह का कोई भी आदेश सरकार की तरफ से जारी नहीं किया गया है. साथ ही इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय द्वारा भी इस तरह का कोई आदेश जारी किया गया है.