नई दिल्ली: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो (ISRO) ने एक बार फिर इतिहास रच दिया है. इसरो ने श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र के लॉन्च पैड से कार्टोसेट-3 को लॉन्च किया है. इसके अलावा इसरो ने 13 अमेरिकी नैनो सैटेलाइट्स को भी लॉन्च किया है. इस तरह इसरो ने कुल 14 सैटेलाइट का प्रक्षेपण किया है. इसरो के कार्टोसैट-3 के अंतरिक्ष यान को सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित कर दिया है. इसरो की ओर से इसकी आधिकारिक जानकारी उनके ट्विटर हैंडल के माध्यम से दी गई है. इसरो ने सुबह 9.28 बजे सैटेलाइट कार्टोसैट-3 (Cartosat-3) को सफलतापूर्वक लॉन्च किया.

इसरो के चीफ डॉ. के. सीवन ने दी बधाई
इसरो के चीफ डॉ. के. सीवन ने सभी सैटेलाइट्स की सफल लॉन्चिंग के बाद कहा, मैं पीएसएलवी-सी47 ने कार्टोसैट-3 और 13 अमेरिकी सैटेलाइट्स को सफलतापूर्वक लॉन्च होने से बेहद खुश हूं. मैं अपनी पूरी टीम को बधाई देना चाहता हूं. उन्होंने कहा कि अब हम मार्च तक 13 और सैटेलाइट छोड़ेंगे.

पृथ्वी से 509 किलोमीटर की ऊंचाई पर चक्कर लगाएगा
इसरो ने कार्टोसैट-3 सैटेलाइट को सुबह 9.28 बजे श्रीहरिकोटा द्वीप पर स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर (SDSC SHAR) के लॉन्चपैड-2 से लॉन्च किया. कार्टोसैट-3 सैटेलाइट पीएसएलवी-सी47 (PSLV-C47) रॉकेट से छोड़ा गया. कार्टोसैट-3 पृथ्वी से 509 किलोमीटर की ऊंचाई पर चक्कर लगाएगा.