ट्विटर इस्तेमाल करने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए यह सबसे बुरे सपनों में से एक हो सकता है कि वह सुबह उठे और उसका एक भी ‘फॉलोअर’ ना हो, लेकिन बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति के आधिकारिक अकाउंट के साथ यह असल में होने वाला है.Also Read - 9/11 Terror Attack Anniversary: राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा- मुख्य सबक यही, एकता हमारी सबसे बड़ी ताकत

ट्विटर ने देश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही राष्ट्रपति के आधिकारिक अकाउंट को ‘रीसेट’ करने की योजना बनाई है, जिससे इस अकाउंट के सारे ‘फॉलोअर्स’ हट जाएंगे. Also Read - US प्रेसिडेंट जो बाइडन ने चीनी राष्‍ट्रपति शी से फोन पर 90 मिनट तक की बात

‘ट्विटर’ अकाउंट ‘पोट्स’ यानी ‘प्रेसिडेंट ऑफ द यूनाइटेड स्टेट’ को ‘पोट्स45’ यानी अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के नाम से संग्रहित (अर्काइव्ह) कर दिया जाएगा. इससे पहले पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकल के अकाउंट को भी ‘पोट्स44’ के नाम से संग्रहित किया गया था. Also Read - सावधान! अगर अब Twitter पर की गाली-गलौज, तो अकाउंट हो जाएगा ब्लॉक, जानें डिटेल

ओबामा के सारे ‘फॉलोअर्स’ सत्ता हस्तांतरण के बाद ट्रंप को मिले ‘पोट्स’ अकाउंट पर बरकरार थे.

ट्रंप कार्यकाल के इस अकाउंट के वे ‘फॉलोअर्स’ जो नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन और नवनिर्वाचित उप राष्ट्रपति कमला हैरिस जैसे प्रासंगिक अकांउट्स को ‘फॉलो’ करते हैं, उन्हें नए अकाउंट को ‘फॉलो’ करने का सुझाव (नोटिफिकेशन) दिया जाएगा.

बाइडन का दल इससे खुश नहीं है.

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति के ‘डिजिटल’ मामलों के निदेशक रॉब फैलेहर्टी ने पिछले सप्ताह ट्वीट किया था कि ‘फॉलोअर्स’ को ‘रीसेट’ करने की योजना ‘‘ पूरी तरह से अपर्याप्त है.’’

वहीं ट्विटर का कहना है कि ‘रीसेट’ करने से लोगों को नए अकाउंट को ‘फॉलो’ करने ना करने का विकल्प मिलता है.

गौरतलब है कि ट्विटर ट्रंप के आपत्तिजनक और भ्रामक ट्वीट की वजह से उनके निजी ‘रियलडोनाल्डट्रंप’ अकाउंट पर हमेशा के लिए प्रतिबंध लगा चुका है.

जो बाइडन 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभालेंगे और उन्हें नया ‘पोट्स’ अकाउंट मिलेगा. इसके साथ ही ट्रंप कार्यकाल से जुड़े ‘पोट्स’ और ‘फोट्स’ (अमेरिका की प्रथम महिला) जैसे अन्य आधिकारिक अकाउंट को संग्रहित कर दिया जाएगा.

इस बीच, फेसबुक ने अपनी नीति में कोई बदलाव नहीं किया है और व्हाइट हाउस के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट पर नए प्रशासन के कार्यभार संभालने के बाद भी ‘फॉलोअर्स’ उतने ही बने रहेंगे, जितने अभी हैं.