सैन फ्रांसिस्को: गूगल द्वारा अपने इमेज सर्च परिणामों से पिछले हफ्ते ‘व्यू इमेज’ के बटन को हटाने के बाद कई यूजर्स ने अन्य सर्च इंजनों का रुख कर लिया है, जिससे माइक्रोसॉफ्ट बिंग और स्टार्टपेज को फायदा हुआ है, जहां उच्च रेजोल्यूशन वाली तस्वीरों को राइट क्लिक कर डाउनलोड किया जा सकता है. गूगल ने गेटी इमेजेज के साथ बहु-वर्षीय वैश्विक लाइसेंसिंग करार पर हस्ताक्षर करने के बाद व्यू इमेज बटन को हटा दिया है, ताकि उसके प्लेटफार्म से कॉपीराइट तस्वीरों को उठाने से रोका जा सके. Also Read - Google Meet, Classroom and Chrome New Features: मीट, क्लासरूम और क्रोम ओएस में ये धमाकेदार फीचर्स लेकर आ रहा है गूगल, स्टूडेंट्स के लिए जानना जरूरी

Also Read - Google का यह ऐप हो रहा है बंद, जल्दी Backup लें, वरना डेटा हो जाएगा डिलीट

बीबीसी की के मुताबिक, आलोचकों का कहना है कि ये बदलाव ‘भद्दे’, ‘यूजर अनफ्रेंडली’ और ‘उत्पाद का दर्जा घटानेवाले’ हैं. Also Read - Google Fit App: गूगल लेकर आया शानदार फिट ऐप, कैमरे की सहायता से मापे हार्ट और ब्रीथिंग रेट

एक यूजर ने ट्वीट में कहा, “यह बेकार का विचार है.. आप गूगल पर इमेज को इमेज के लिए सर्च करते हैं, न कि इमेज सोर्स के लिए. ऐसा कदम उठाकर आप अपनी सफल सेवा को नष्ट कर रहे हैं.”

यह भी पढ़ें: कंटेंट के लिए पत्रकारों को भर्ती करना हमारा काम नहीं: फेसबुक

कई यूजर्स ने कहा कि लोगों को गूगल की प्रतिद्वंद्वी सर्च इंजनों का उपयोग करना चाहिए, जिसमें माइक्रोसॉफ्ट का बिंग प्रमुख है, जहां ‘व्यू इमेज’ बटन अभी भी उपलब्ध है.

बता दें इमेज सर्च रिजल्ट में गूगल कॉपीराइट एट्रिब्यूशन और डिस्क्लेमर भी शुरू करेगा. व्यू इमेज बटन के हटने के बाद यूजर को अब तस्वीरों के लिए उस वेबसाइट के लोड करने का इंतजार करना पड़ेगा, जहां वह फोटो मूल रूप से मौजूद है. हालांकि, यूजर्स को इससे निराशा भी हो सकती है. व्यू इमेज बटन को हटाने के साथ-साथ गूगल ने ‘सर्च बाई इमेज’ बटन को भी हटा दिया है.