नई दिल्ली: दूरसंचार नियामक ट्राई ने हाल ही में कहा कि ग्राहक चार नवंबर से 10 नवंबर के दौरान मोबाइल नंबर वहीं रखते हुए कंपनी बदलने यानी ‘पोर्टेबिलिटी’ के लिए आवेदन नहीं दे पाएंगे. इसका कारण नई और सरल ‘पोर्टेबिलिटी’ व्यवस्था को अपनाया जाना है जो 11 नवंबर से लागू होगी.

Flipkart Diwali sale पर धमाकेदार डिस्काउंट पर खरीदें Thomson TV, 5,999 रुपये से शुरू होंगी कीमत

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के एक अधिकारी ने कहा कि नई व्यवस्था के तहत अगर कोई व्यक्ति एक सेवा क्षेत्र में मोबाइल कंपनी बदलने का आग्रह करता है, प्रक्रिया दो कामकाजी दिवस में पूरी होगी. वहीं एक सर्किल से दूसरी सर्किल के लिये ‘नंबर पोर्टेबिलिटी’ के आग्रह को पांच दिन में पूरा किया जाएगा.

नई मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी व्यवस्था में पूरी प्रक्रिया तेज और सरल होगी. इसमें प्रक्रिया पूरी होने में कम समय लगेगा जो फिलहाल सात दिन है. ट्राई ने एक बयान में कहा कि सभी लाइसेंस सेवा क्षेत्र के लिए मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी 4 नवंबर 2019 से शाम 6 बजे से 10 तारीख के लिए आवेदन नहीं दिए जा सकेंगे. नई व्यवस्था 11 नवंबर 2019 से अमल में आएगी.