11 मई का दिन प्रत्येक भारतीय के लिए एक गर्व का दिन है और इस​ दिन को National Technology Day के रुप में मनाया जाता है. भारत में 11 मई को National Technology Day मनाने की शुरुआत देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने की थी. इस दिन से एक बेहद ही खास इतिहास जुड़ा हुआ है जिसने पूरी दुनिया में भारत की ताकत दर्शाई है और बताया कि हम विज्ञान के क्षेत्र में कितने प्रगतिशील हैं. आइए जानते हैं National Technology Day के इतिहास और इससे जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में… Also Read - स्मार्टफोन को हैकर्स या फ्रॉड से बचाने के लिए सेटिंग में जरूर करें ये बदलाव, नहीं तो हो सकती है दिक्कत

National Technology Day का इतिहास
भारत में हर साल 11 मई को National Technology Day मनाया जाता है और इस दिन की शुरुआत 11 मई 1998 में हुई थी. 1998 में आज ही के दिन राजस्थान के पोखरण में भारत ने अपना पहला परमाणु परीक्षण किया था. इस परीक्षण में 5.3 रिक्टर पैमाने पर भूकंपीय कंपन दर्ज करते हुए ​कुल तीन परमाणु बम विस्फोट किए गए. इस सफल परमाणु परीक्षण के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने देश में 11 मई को National Technology Day के रूप में मनाने की घोषणा की थी. Also Read - OnePlus Nord CE 5G से लेकर Poco M3 Pro 5G तक पिछले हफ्ते भारत में लॉन्च हुए कई शानदार स्मार्टफोन, यहां देखें पूरी लिस्ट

National Technology Day से जुड़ी कुछ खास बातें
11 मई को मनाए जाने वाले National Technology Day के दिन प्रौद्योगिकी विकास बोर्ड की ओर से हर साल वैज्ञानिकों को उनके योगदान के लिए पुरस्कार से नवाजा जाता है. बता दें कि 11 मई 1988 में DRDO यानि डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन ने सतह से हवा में मार करने वाली शॉर्ट रेंज मिसाइल त्रिशूल का भी परीक्षण किया था और इसलिए इस दिन का महत्व और बढ़ जाता है. भारत में National Technology Day को विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा हर साल आयोजित किया जाता है. यह दिन केवल भारतीयों के लिए गर्व का दिन नहीं है, बल्कि दुनिया में अपनी ताकत और मजबूत का बखान करने का भी दिन है. यह दिन बताता है कि भारत विज्ञान के क्षेत्र में किसी से पीछे नहीं है और ​आए दिन हम इस क्षेत्र में प्रगति कर रहे हैं. Also Read - एडटेक स्टार्टअप ने जुटाए 5 करोड़ रुपए, 5 गुना बढ़ोतरी; बच्चों के लिए रोबोटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बनाती है कंपनी