Non Chinese Mobile’s/Smartphones: भारत और चीन के बीच LAC और गलवान वैली में चल रहे विवाद और 20 जवानों के वीरगति प्राप्त होने के बाद अब देश में चीन के खिलाफ अभियान तेज हो गया है. भारत सरकार ने चीन के 59 मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया है. इस बीच अगर चीन के मोबाइल मार्केट की बात करें तो भारतीय बाजारों में 70 फीसदी कब्जा चीनी मोबाइल फोन्स का है. इन मोबाइल फोन में ओपो (OPPO), विवो (VIVO), वनप्लस (ONEplus), रीयलमी (Realme), एमआई (Redmi) जैसे कई अन्य फोन हैं. लेकिन अगर आप चीन को बॉयकॉट (Boycott china) करने की सोच रहे हैं तो यह इतना आसान नहीं है. लेकिन हां कुछ ऐसे मोबाइल फोन्स भारतीय बाजार में जरूर हैं जो चीनी मोबाइल फोन से बेहतर क्वालिटी, बेहतर तकनीक, बेहतर लुक, बेहतर फीचर्स और बेहतर सुरक्षा मुहैया कराते हैं. अगर आप चीनी मोबाइल फोन्स से पीछा छुड़ाना चाहते हैं तो आपको इन फोन्स के बारे में जानकारी होनी चाहिए. आज हम आपको गैर चीनी मोबाइल फोन्स (Non Chinese Mobile’s and Smartphones) के बारे में बताने वाले हैं. Also Read - Non Chinese Mobile Smartphones: क्या आप भी Boycott china के समर्थक हैं, तो इन गैर चीनी मोबाइल फोन्स के बारे में जरूर जानें

एप्पल आईफोन (Apple Iphone) Also Read - दिल्‍ली में जुलाई में कोरोना के 5.5 लाख केस होंगे, 80,000 बेड की जरूरत होगी: डिप्‍टी CM मनीष सिसोदिया

इस कड़ी में हम सबसे पहले एप्पल के आईफोन के बारे में बात करेंगे. दुनिया के कई टेक एक्सपर्ट्स का मानना है कि सुरक्षा व निजता के लिहाज से ऐप्पल मोबाइल फोन्स सबसे शानदार विकल्प हैं. इन मोबाइल फोन्स में से डाटा की चोरी होना असंभव जैसा ही है. क्योंकि कंपनी अपने सुरक्षा फीचर्स पर खासा ध्यान देती है. साथ ही अपने ब्रैंड वैल्यू को बनाए रखने में किसी प्रकार का समझौता नहीं करती. अगर एप्पल की बात करें तो यह अमेरिकी कंपनी है. इस कंपनी की स्थापना स्टीव जॉब्स ने की थी. इस कंपनी के मोबाइल फोन्स काफी महंगे लेकिन क्वालिटी वाले होते हैं. कंपनी ने हाल ही में अपना नया आईफोन iPhone Se मॉडल लॉन्च किया है. Also Read - गूगल ने ऐप्पल यूजर्स को दी नई सुविधा, अब जीमेल में आपको मिलेगा डार्क मोड फीचर

सैमसंग (Samsung)

सैमसंग मोबाइल फोन्स की भारत में काफी डिमांड है. लेकिन चीनी मोबाइल फोन्स के भारतीय बाजार में आने के बाद कंपनी को कुछ नुकसानों का सामना जरूर करना पड़ा है. साथ ही कंपनी को चीनी मोबाइल कंपनियों के कारण काफी कड़ी प्रतिस्पर्धा से गुजरना पड़ रहा है. यह कंपनी दक्षिण कोरिया की है. यह कंपनी मोबाइल फोन से लेकर टीवी, वॉशिंग मशीन और एयरकंडिशनर्स तक सभी बनाती है. सैमसंग के मोबाइल्स बाजार में आपको 2000 की शुरुआती दामों पर आसानी से मिल जाएंगे. सैमसंग के मोबाइल फोन्स की क्वालिटी भी काफी बेहतर होती है. निजता की सुरक्षा को लेकर कंपनी की पॉलिसी भी काफी बेहतर है.

नोकिया (Nokia)

नोकिया फिनलैंड की कंपनी है. यह कंपनी तब घाटे में चली गई थी जब दुनिया एंड्रॉयड मोबाइल फोन्स की तरफ बढ़ रही थी. क्योंकि कंपनी ने अपने मोबाइल ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर में बदलाव नहीं किया. इस मोबाइल फोन को पहले सबसे भरोसेमंद फोन में से एक माना जाता था. हालांकि नोकिया उपभोक्ताओं की पहली पसंद आज भी नोकिया मोबाइल फोन्स ही हैं. ऐसे में अपने उपभोक्ताओं के लिए कंपनी ने कुछ साल पहले एंड्रॉयड मार्केट में एंट्री की. इसके साथ ही कंपनी ने अपने आप को फिर से बाजार में स्थापित कर लिया. इस कंपनी के फोन काफी शानदार लुक, फीचर व सुरक्षा के लिए जाने जाते हैं.

आसुस (Asus)

आसुस मोबाइल फोन्स का ताल्लुक ताईवान से है. ताईवान की टेक्नोलॉजी बेहतरीन टेक्नॉलाजी में से एक है. यह कंपनी लैपटॉप का निर्माण भी करती है. यह कंपनी उपभोक्ताओं के गेमिंग के अनुभवों के आधार पर अपने फोन्स का निर्माण ज्यादातर करती है. आसुस के कई फोन्स की भारतीय बाजार में भारी मांग है. भारतीय बाजार में ROG फोन ने आसुस कंपनी को भारतीय बाजार में स्थापित कर दिया है. इस कंपनी के फोन 6Z और 5Z की भारतीय बाजार में काफी डिमांड है.

एलजी (LG)

एलजी कंपनी एक दक्षिण कोरिया की कंपनी है. यह कंपनी फ्रिज, टीवी, मोबाइल, मॉनिटर, एसी जैसी कई चीजों का निर्माण करती है. भारतीय बाजार में एलजी के सामानों पर लोगों को काफी भरोसा सालों से है. ऐसे में भारतीय बाजार में एलजी के मोबाइल फोन्स की भी अच्छी मांग है. अगर आप चीन के मोबाइल फोन्स से छुटकारा पाना चाहते हैं तो ये पांच मोबाइल फोन बनाने वाली गैर चीनी कंपनियों के फोन आपके लिए बेहतर विकल्प हैं.