नई दिल्ली: भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ( UIDAI) ने सभी टेलीकॉम कंपनियों से अपने ग्राहकों को ऐसी सुविधा देने को कहा है, जिससे वे जान सकें कि उनके आधार से उनके कौन-कौन से मोबाइल सिम जुड़े हुए हैं. UIDAI का मानना है कि इस पहल से सिम के अनऑथराइज इस्तेमाल की संभावना नहीं रहेगी.Also Read - Pics: आईफोन 13 मॉडल आकार में थोड़े मोटे होंगे : रिपोर्ट

Also Read - iPhone: छोटे नॉच के साथ बाजार में उतारा जा सकता है आईफोन 13 प्रो : रिपोर्ट

इस सुविधा के तहत यूजर्स एसएमएस के जरिए यह जान सकेंगे कि उनका मोबाइल नंबर आधार से जुड़ा है या नहीं. इसी तरह वे यह भी जान सकेंगे कि उनके आधार नंबर पर कितने मोबाइल नंबर जारी हैं या वैरिफाई किए गए हैं. टेलीकॉम कंपनियों से कहा गया है कि वे यह नयी सुविधा 15 मार्च तक शुरू कर दें. Also Read - Whatsapp Stop from 1 January 2021: 1 जनवरी से इन स्मार्टफोन्स पर काम नहीं करेगा व्हाट्सएप, आपके फोन पर चलेगा या नहीं ऐसे करें चेक

यह भी पढ़ें: इन 8 स्टेप्स में पैन कार्ड से लिंक करें आधार कार्ड

UIDAI का कहना है इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं कि कुछ रिटेलर, ऑपरेटर, टेलीकॉम कंपनियों के एजेंट नये सिम जारी करने, नंबरों का रि-वैरिफिकेशन करने के लिए आधार का दुरुपयोग कर रहे हैं और वे इसकी मदद से दूसरे व्यक्ति को सिम जारी कर रहे है या दूसरे का वैरिफिकेशन कर रहे हैं. प्राधिकरण ने कंपनियों को आगाह किया है कि वे सुनिश्चित करें कि उनके रिटेलर या एजेंट किसी तरह की गड़बड़ी न करें. बता दें कि देश में 1.2 अरब से ज़्यादा लोगों का आधार के लिए नामांकन हो चुका है जो कि 12 अंकों की विशिष्ट संख्या है.

(इनपुट पीटीआई)