पतंजलि ने गुरुवार को मैसेजिंग ऐप ‘किम्भो’ को गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर से हटा लिया. ऐप पेश करने के 1 दिन बाद यह कदम उठाते हुए कंपनी ने कहा कि इसे
सिर्फ 1 दिन के लिए परीक्षण के तौर पर जारी किया गया था. कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि तकनीकी विकास चरण पूरा होने के बाद जल्द ही आधिकारिक
तौर पर एप को पेश किया जाएगा.

पतंजलि के प्रवक्ता ने बुधवार को ‘किम्भो’ ऐप पेश करने को लेकर ट्वीट किया और दावा किया कि यह फेसुबक के स्वामित्व वाले वॉट्सएप को भारत का जवाब है. पतंजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा कि हमने सिर्फ परीक्षण के लिए 1 दिन के लिए किम्भो एप का ट्रॉयल वर्जन गूगल प्ले स्टोर और एपल स्टोर पर डाला था. पहले 3 घंटे में इसे 1.5 लाख लोगों ने डाउनलोड किया.

गूगल प्ले-स्टोर पर किम्भो ऐप के डेवलपर का एड्रेस भी पतंजिल आयुर्वेद लिमिटेड, डिपार्टमेंट ई-कॉमर्स, D-28 इंडस्ट्रियल एरिया, नियर इनकम टैक्स ऑफिस, हरिद्वार, उत्तराखंड, 249401 दिया गया था. इसके अलावा इस ऐप को पतंजलि कंम्यूनिकेशन द्वारा लॉन्च किया था.

Kimbho की खासियत
Kimbho के ऐप के फीचर्स की बात करें तो इसके जरिए व्हाट्सऐप की तरह वीडियो कॉलिंग का दावा किया गया था. इसके अलावा इसमें यूजर्स रियल टाइम में टेक्स्ट, मैसेज, वीडियो, फोटो और ऑडियो क्लिप फ्रेंड्स के साथ शेयर करने की बात कही गई थी. इसके अलावा बता दें कि इस ऐप में लोकेशन शेयरिंग फीचर के साथ इसे एड रहित चलान की बात रही गई थी.