नई दिल्ली: मई के अंत में लॉन्च किया गया योगगुरु रामदेव का स्वदेशी मोबाइल मैसेजिंग एप ‘किम्भो’ एक दिन बाद ही गूगल प्ले स्टोर से हटा लिया गया था. हालांकि यह अब एक बार फिर लॉन्च के लिए तैयार है. इसे वॉट्सऐप के विकल्प के तौर पर पेश किया गया था. पतंजलि ने पहले तो लोगों से इस एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करने को कहा, फिर इसके तुरंत खत्म होने के लिए इंटरनेट पर अत्यधिक ट्रैफिक को दोष दिया, उसके बाद में कहा कि यह सिर्फ एक दिवसीय परीक्षण था. Also Read - पंतजलि ने PM CARES Fund में 25 करोड़ रुपए का सहयोग दिया: योगगुरु रामदेव

Also Read - अगले 5 सालों में पतंजलि का कारोबार 50 लाख से 1 लाख करोड़ तक पहुंच सकता है: रामदेव

Reliance JioPhone-2: 3 हजार रुपए के फोन के लिए 16 अगस्त से फ्लैश सेल, ऐसे कराएं बुकिंग Also Read - पतंजलि नमक पर कटाक्ष करना पड़ा भारी, ट्रोल हुए जावेद जाफरी

पतंजलि के सह संस्थापक आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट कर किम्भो के फिर से लॉन्च की जानकारी दी. ट्वीट में कहा गया है कि किम्भो को 27 अगस्त को लॉन्च किया जाएगा. आचार्य बालकृष्ण ने 15 अगस्त को ट्वीट किया, स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं आप के विश्वास के लिए पतंजलि परिवार आपके प्रति कृतज्ञ है,आप स्वतंत्रता दिवस के पावन उत्सव के साथ डिजिटल आजादी का जश्न “किम्भो:” के नये और एडवांस फीचर्स के साथ मनाइये.

किम्भो: ऐप में कुछ सूक्ष्म न्यूनताएं हो सकती है, उनके उनके सुधार के साथ विधिवत 27 अगस्त 2018 को लॉन्च करेंगे. आपके सुझाव व समीक्षा का हम स्वागत करते है. आओ लॉन्च से पहले ही इस स्वदेशी “किम्भो:” को पूरी दुनिया में गूंजा दे. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं. भारत माता की जय.

23वीं सालगिरह पर एयरटेल अपने ग्राहकों को दे रहा स्पेशल अमेजन पे-गिफ्ट कार्ड

किंभो संस्कृत का शब्द है जिसका मतलब है What’s New या How are you. इस मैसेजिंग एप का लोगो वॉट्सऐप को ही थोड़े हेर-फेर के साथ डिजाइन किया हुआ लगता है. Kimbho की पहली बार लॉन्चिंग रे वक्त वॉट्सऐप की तरह वीडियो कॉलिंग का दावा किया गया था. इसके अलावा रियल टाइम टेक्स्ट, मैसेज, वीडियो, फोटो और ऑडियो क्लिप फ्रेंड्स के साथ शेयर करने की बात कही गई थी.

रिलायंस ‘जियो फोन 2’ की बिक्री 16 अगस्त से शुरू, कंपनी का बड़ा मंसूबा

पहली बार लॉन्चिंग के वक्त फ्रांस के प्रसिद्ध सुरक्षा अनुसंधानकर्ता इलियट एल्डरसन ने ट्विटर पर किम्भो को सुरक्षा के मामले में विध्वंसकारी बताते हुए कहा था कि यह किम्भो एप एक मजाक है, अगली बार संवाददाता सम्मेलन बुलाने से पहले सक्षम डेवलपर्स से काम कराएं. अगर कुछ स्पष्ट नहीं है, तो तत्काल इसे इंस्टॉल न करें.

जियो का नया ऑफर, इस तरह मिलेगा फ्री जियोफाई डिवाइस

देश के प्रमुख सोशल मीडिया विशेषज्ञ अनूप मिश्रा ने कहा था कि जहां वॉट्सऐप जैसा एक मैसेजिंग एप बनाकर फेसबुक को 19 अरब डॉलर में बेचा गया, वहीं स्वदेशी एप किम्भो लांच करने वाली पतंजलि की कुल संपत्ति लगभग 2.5 अरब डॉलर है. पतंजलि का आईटी क्षेत्र में शून्य योगदान है, इसलिए यह उपक्रम पहले चरण में ही विफल होना ही था. हालांकि अब इसकी तमाम खामियों को दूर कर लिए जाने का दावा किया जा रहा है.