कश्मीर घाटी में सोमवार को सभी नेटवर्क की पोस्टपेड मोबाइल सेवा बहाल कर दी गई। पाबंदियों के चलते बीते 72 दिन से यह सेवा ठप पड़ी थी। सोमवार को दोपहर तक करीब 40 लाख मोबाइल फोन पर पोस्टपेड सेवा काम करने लगी। जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा केंद्र सरकार द्वारा खत्म किए जाने और प्रदेश को दो केंद्र शासित प्रदेशों … जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित करने के बाद पांच अगस्त से यहां पाबंदियां लगा दी गई थी।

इसके बाद वहां आम लोगों का आना जाना भी बंद कर दिया गया था। बाहरी लोग फ्लाइट के जरिए भी कश्मीर नहीं जा पा रहे थे। आने वाले 31 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश बन जाएंगे। घाटी में 17 अगस्त तक लैंडलाइन की आंशिक सेवा बहाल की गई थी और चार सितंबर तक करीब 50,000 लैंडलाइन को शुरू करने की घोषणा की गई थी।

<strong>

</strong>

जम्मू में मोबाइल इंटरनेट सेवा अगस्त मध्य से बहाल हो गई थी। मोबाइल सेवा इससे भी पहले चालू हो चुकी थी। हालांकि दुरुपयोग होने के बाद 18 अगस्त को मोबाइल पर इंटरनेट सुविधा को फिर से बंद कर दिया गया था। सरकार ने इस राज्य में मोबाइल सर्विस को इसलिए बंद किया था जिससे की बाहरी शक्तियां कश्मीर की शांति को भंग नहीं कर पाएं।

इनपुट:PTI