PUBG Mobile Addiction : हरियाणा के जींद में शनिवार रात को शिवपुरी कॉलोनी में  हरियाणा पुलिस में एएसआई के 17 वर्षीय बेटे ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों के अनुसार, मृतक पिछले एक वर्ष से मोबाइल पर PUBG Mobile खेल रहा था और घरवालों द्वारा मना करने के कारण उसने आत्महत्या की है।  पुलिस सूत्रों ने बताया कि यहां की शिवपुरी कॉलोनी निवासी एवं कैथल में एएसआई के पद पर तैनात सत्यवान का 17 वर्षीय बेटा तरसेम दसवीं तक पढ़ाई करने के बाद घर पर ही रहता था। वह पिछले एक वर्ष से अपना अधिकतर समय मोबाइल (PUBG Mobile Addiction) के साथ ही बिताता था। एक महीने पहले ही परिजनों को पता चला कि वह मोबाइल पर PUBG गेम खेलता है।

जानकारी के मुताबिक तरसेम के परिजनों ने कई बार उससे मोबाइल गेम खेलने के लिए मना भी किया लेकिन वह नहीं माना। तरसेम रात को 12-12 बजे तक गेम खेलता रहता था। शनिवार रात लगभग नौ बजे तरसेम खाना खाकर अपने कमरे में चला गया। परिजनों ने सोचा कि वह सो गया होगा। उसकी मां किसी काम से उसके कमरे में गई तो वह फांसी के फंदे पर लटका मिला। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अस्पताल पहुंची शहर थाना पुलिस ने रविवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। परिजनों के अनुसार तरसेम ने मोबाइल गेम के कारण ही आत्महत्या की है।  शहर थाना प्रभारी दिनेश ने बताया कि तरसेम मोबाइल पर गेम खेलने का आदी था। परिजनों ने रात उसे गेम खेलने से मना किया तो उसने फांसी का फंदा लगा लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

PUBG गेम की बढ़ती लत के कारण कई देशों में ने इस गेम पर बैन लगाय दिया है। हाल में ही जोर्डन ने इस गेम के नकारात्मक प्रभावों को देखते हुए बैन लगाया है। इससे पहले इराक और नेपाल भी PUBG गेम पर बैन लगा चुका है। वहीं भारत में गुजरात में इस गेम पर बैन लगाया जा चुका है।