PUBG Mobile गेम में चीटिंग करने वाले प्लेयर्स की एक नई लिस्ट जारी की गई है। कंपनी ने PUBG Mobile में चीटिंग करने वालों की एक नई बैन लिस्ट 20 नवंबर को जारी की है। आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि सबसे ज्यादा प्लेयर्स जिनको बैन किया गया है वह एशियाई देशों के है। कंपनी ने प्लेयर्स को बैन करने के लिए जो रीजन दिए हैं उनमें मॉडिफिकेशन ऑफ एरिया डैमेज, मॉडिफिकेशन ऑफ जंप डिस्टेंस , मॉडिफिकेशन ऑफ जंप हाईट, मॉडिफिकेशन ऑफ रनटाइम गेम डाटा, मॉडिफिकेशन ऑफ द कैरेक्टर मॉडल, मॉडिफिकेशन ऑफ रिकॉइल, यूसेज ऑफ वर्चुअल एप्स जैसे कई कारण दिए गए हैं।

जिन लोगों को कंपनी ने बैन किया है वह अगले 10 साल तक इस आईडी के जरिए गेम नहीं खेल पाएंगे। इससे पता चलता है कि कंपनी गेम में चीटर्स को लेकर कितना एक्टिव है और वह कितनी तेजी से चीटर्स को बैन कर रही है। कंपनी ने इसको लेकर ट्टिट भी किया गया है। PUBG Mobile के लिए शुरुआत से ही चीटर्स एक बड़ी समस्या रहे हैं। ये चीटर्स एक खास सॉफ्टवेयर की मदद से गेम में एडवांटेज लेने की कोशिश करते हैं। इन चीटर्स और हैकर्स को गेम खेलने के दौरान एडवांटेज मिलता है।

इन सॉफ्टवेयर्स की मदद से चीटर्स और हैकर्स गेम खेलने के लिए वॉल के आर-पार अपने दुश्मनों को देख पाते हैं और वह उन्हें आसानी से अपना शिकार बना लेते हैं। कंपनी ने जो ट्विट किया है उसके मुताबिक PUBG MOBILE में फेयर गेमप्ले हमारे लिए महत्वपूर्ण है और हम लगातार ऐसे प्लेयर्स को बैन करते रहेंगे जो किसी खास सॉफ्टवेयर की मदद से गेम को चीट कर रहे हैं। Tencent Games ने PUBG गेम में चीटर्स को बैन करने की जानकारी शेयर की है। PUBG Mobile ने इसके लिए एक ब्लॉग भी लिखा है जिसमें इसकी जानकारी दी गई है।