Pubg Unban in India: PUBG लवर्स के लिए एक अच्‍छी खबर आ रही है. इस पॉप्‍युलर गेम (PUBG Mobile) की देश में वापसी हो सकती है. PUBG गेम (PUBG Mobile Lite) बनाने वाली साउथ कोरियाई कंपनी भारत की गेमिंग फर्म के साथ पार्टनरशिप कर सकती है. रिपोर्ट्स की मानें, तो इसके लिए पबजी कॉर्पोरेशन की Reliance Jio के साथ बातचीत चल रही है. Also Read - JioPages Web Browser: Reliance Jio लाया मेड इन इंडिया वेब ब्राउजर JioPages, सपोर्ट करता है 8 भारतीय भाषाएं

PUBG कॉर्पोरेशन साउथ कोरिया की कंपनी Bluehole Games की सहायक कंपनी है. हिंदुस्तान टाइम्स ने मिंट के हवाले से कहा है कि पबजी कॉर्पोरेशन भारत में अपना ऑपरेशन्‍स दोबारा शुरू करने के लिए इंडियन गेमिंग कंपनी के साथ पार्टनशिप के लिए संभावनाएं तलाश रही है. Also Read - Reliance Jio ने ग्राहकों को दिया झटका, इस प्लान की कीमत में की बढ़ोतरी

खबरें हैं कि भारत में Reliance Jio को PUBG का लाइसेंस मिल सकता है. रिपोर्ट्स में कहा गया है कि साउथ कोरियाई कंपनी ने रिलायंस जियो के साथ रेवेन्यू शेयर और लोकलाइजेशन पर चर्चा की है. Also Read - रिकॉर्ड: 40 करोड़ ग्राहक बनाने वाली देश की पहली टेलिकॉम कंपनी बनी रिलायंस जियो, 4 साल में हासिल की ये उपलब्धि

इससे पहले, भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर रिलायंस जियो और PUBG लाइट गेम्स के निर्माताओं ने यूजर्स को गेम खेलने का बेहतर अनुभव देने के लिए हाथ मिलाया था. इस साझेदारी के तहत पबजी लाइट के लिए रजिस्‍टर करने वाले जियो यूजर्स को एक्‍सक्‍लूसिव रिवॉर्ड दिया जाता था. माना जा रहा है कि PUBG अब इस पार्टनरशिप को परमानेंट बनाने की कोशिश कर रहा है.

रिपोर्ट्स में कहा गया है कि जियो और पबजी के बीच चल रही बातचीत अभी शुरुआती चरण में है. दोनों पक्ष साथ में काम करने के लिए इस पार्टनरशिप के विभिन्‍न पहलुओं पर विचार कर रहे हैं. अभी रिलायंस जियो या पबजी कॉर्पोरेशन ने इसे लेकर कोई ऑफिशियल स्‍टेटमेंट नहीं दिया है.

2 सितंबर को लगा था बैन
केंद्र सरकार ने राष्‍ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए 2 सितंबर को पबजी मोबाइल समेत 118 चाइनीज ऐप पर बैन लगा दिया था. इसके बाद साउथ कोरिया की PUBG कॉर्पोरेशन ने भारत में PUBG Mobile के संचालन की पूरी जिम्‍मेदारी चीन की Tencent Games से लेने की घोषणा की थी. अब कंपनी इंडियन पार्टनर की तलाश कर रही है. इंडस्‍ट्री एक्‍सपर्ट्स का कहना है कि भारत में बहुत कम फर्म ऐसे हैं, जो पबजी जैसे बड़े गेम्‍स को चला सकते हैं.