मोबाइल वॉलेट यूजर्स के लिए राहत भरी खबर है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मोबाइल वॉटलेट कंपनियों के लिए अपने ग्राहकों की KYC करने की अंतिम तारीख बढ़ा दी है. अब केवाईसी करवाने की अंतिम तारीख 29 फरवरी 2020 कर दी गई है. यानी Paytm, PhonePe, Amazon Pay, Google Pay को यूजर्स KYC करवाए बगैर अंतिम तारीख तक यूज कर पाएंगे. इससे पहले KYC पूरी करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त 2019 थी लेकिन, 30 अगस्त को RBI ने ई-वॉलेट कंपनियों को राहत देते हुए अंतिम तारीख को छह महीने के आगे बढ़ा दी है. Also Read - Google Pay से करते हैं लेनदेन तो हो जाएं सावधान, NPCI की ऑथोराइज्ड भुगतान प्रणाली ऑपरेटर में नहीं है शामिल, जानें डिटेल

आरबीआई की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि सभी PPI (प्री-पेड पेमेंट इन्स्ट्रमन्ट्स) और मोबाइल वॉलेट प्रोवाइडर्स के लिए अपने ग्राहकों की KYC प्रक्रिया को पूरी करने के लिए 6 महीने का अतिरिक्त समय दिया जा रहा. आरबीआई ने अंतिम तारीख बढ़ाते हुए चेतावनी दी है कि वह आगे इसमें किसी प्रकार की राहत नहीं देगा. इससे पहले PPI प्रोवाइडर्स का कहना था कि ग्राहकों और उनके दस्तावेजों के फिजिकल वेरिफिकेशंस (भौतिक सत्यापन) में काफी समय लग और पैसा लग रहा है. ऐसे में उन्हें थोड़ा और समय देना चाहिए. ताकी वे अपने सभी यूजर्स की KYC पूरी कर लें. Also Read - क्या आप भी करते हैं ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर, जानें कैसे पीएसपी शुल्क से फोनपे और गूगल पे पर पड़ेगा असर

ई-वॉलेट की सुविधा देने वाली कंपनियों को अपने ग्राहकों की KYC के लिए उनके पास जाकर उनके और उनके दस्तावेजों का वेरिफिकेशन करना है. इससे पहले कंपनियां अपने ग्राहकों का ऑनलाइन मोड से KYC कर रही थी. पेमेंट काउंसिल ऑफ इंडिया का सुझाव था कि ई-वॉलेट कंपनियों को अपने ग्राहकों का फेस-टू-फेस वेरिफिकेशन करवाए, जिसके बाद RBI ने यह आदेश जारी किया था.

बता दें कि भारत में ऑनलाइन पेमेंट और ई-वॉलेट का चलन तेजी से बढ़ रहा है. खबरों के मुताबिक भारत में फिलहाल करीब 50 करोड़ यूजर्स मोबाइल वॉलेट का प्रयोग करते हैं. एक अनुमान के मुताबिक, करीब 40 प्रतिशत यूजर्स ने अभी तक केवाईसी नहीं करवाई हैं.