अगर आप अधिक कीमत चुका कर एक प्रीमियम रेंज का स्मार्टफोन खरीदते हैं तो यह उम्मीद भी करते हैं कि स्मार्टफोन के डिजाइन और फीचर्स के साथ ही उसकी बिल्ड क्लाविटी भी काफी अच्छी होगी. लेकिन हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें प्रीमियम रेंज के स्मार्टफोन ने ही यूजर्स को बेहद निराश किया है. टेक दिग्गज कंपनी Samsung अपने फ्लैगशिप स्मार्टफोन और फीचर्स के लिए यूजर्स के बीच काफी लोकप्रिय है, लेकिन हाल ही में कंपनी पर आरोप लगाया गया है कि कंपनी ने अपने मंहगे फोन में खराब क्वालिटी वाले ग्लास का इस्तेमाल किया है जो कि अचानक से टूट रहा है. आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला? Also Read - स्मार्टफोन को हैकर्स या फ्रॉड से बचाने के लिए सेटिंग में जरूर करें ये बदलाव, नहीं तो हो सकती है दिक्कत

जानिए पूरा मामला
xda-developers की रिपोर्ट के अनुसार Samsung के खिलाफ फ्लैगशिप सीरीज Galaxy S20 के कैमरे में खराब क्वालिटी का ग्लास उपलब्ध कराने का मुकदमा दायर किया गया है. लेकिन लॉ फर्म Hagens Berman के मुताबिक कंपनी ने इस आरोप को सिरे से नकार दिया है. कंपनी पर आरोप लगा है कि Galaxy S20 सीरीज के स्मार्टफोन Samsung Galaxy S20, Samsung Galaxy S20 Plus और Samsung Galaxy S20 Ultra के साथ ही Samsung Galaxy S20 FE में भी खराब क्वालिटी के ग्लास का इस्तेमाल किया है. सैकड़ों यूजर्स ने शिकायत की है कि उपयोग के कुछ दिन बाद ही उनके फोन का ग्लास अपने आप टूट रहा है. यह मुकदमा अब कोर्ट तक पहुंच गया है और इसमें कहा गया है कि महंगे फोन के बावजूद कंपनी इस खामी को वारंटी में तहत कवर करने से इनकार कर रही है. Also Read - OnePlus Nord CE 5G से लेकर Poco M3 Pro 5G तक पिछले हफ्ते भारत में लॉन्च हुए कई शानदार स्मार्टफोन, यहां देखें पूरी लिस्ट

कंपनी ने किया कंज्यूमर-प्रोटेक्शन कानून का उल्लंघन
रिपोर्ट में मुताबिक Samsung पर आरोप लगाते हुए यह भी गया है कि कंपनी ने अपने कंज्यूमर-प्रोटेक्शन कानून का उल्लंघन किया है. यूएस के न्यूजर्सी में 27 अप्रैल को डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में यह मुकदमा दायर किया गया और दलील दी गई है कि Samsung जैसी बड़ी कंपनी अपने उपभोक्ताओं को डिफेक्टेड प्रोडक्ट बेचकर उनके साथ धोखधड़ी और वारंटी के नियमों का उल्लंघन कर रही है. स्मार्टफोन में डिफेक्ट होने के बावजूद कंपनी ने इस सीरीज को बाजार में उतारकर लोगों को धोखा दिया है. Also Read - एडटेक स्टार्टअप ने जुटाए 5 करोड़ रुपए, 5 गुना बढ़ोतरी; बच्चों के लिए रोबोटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बनाती है कंपनी