नई दिल्ली: अगर आप अपना मोबाइल नंबर पोर्ट करवाना चाहते हैं, तो जल्द ही ये काम कर लें. क्योंकि मार्च 2019 से आपको नंबर पोर्ट करवाने में दिक्कत आ सकती है. भारत में पोर्टबिलिटी की सर्विस देने वाली कंपनियां एमएनपी इंटरकनेक्शन टेलिकॉम सॉल्यूशंस और सिनिवर्स टेक्नॉलजीस ने डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्यूनिकेशन को बताया है कि जनवरी से पोर्टिंग फी में 80 पर्सेंट तक की कमी आई है जिसके कारण कंपनियों को भारी घाटा हो रहा है और वे अपनी सर्विस बंद कर सकती हैं. इन दोनों कंपनियों का लाइसेंस मार्च 2019 में खत्म हो रहा है. इस कंपनियों ने कहा है कि इस वजह से मार्च 2019 में लाइसेंस खत्म होने के बाद वह अपनी सेवाएं देना बंद कर देंगे. Also Read - कहीं कोई फर्जी बैंक खाता तो आपके Aadhaar से नहीं जुड़ा, यहां जानिए कितने बैंक अकाउंट आधार से हैं लिंक

Also Read - Ration Card Update: घर बैठे बदल सकते हैं राशन कार्ड में दर्ज नंबर, फौरन करें नहीं तो होगी समस्या

नहीं कर पाएंगे मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी, ये है कारण Also Read - Ration Card Update: अब ऑनलाइन बदलें अपने राशन कार्ड का मोबाइल नंबर, इस प्रक्रिया को करें फॉलो

बता दें कि कंपनी की सर्विस पूरी तरह से बंद करने के बाद यूजर्स के पास किसी तरह का कोई आॅप्शन नहीं बचेगा. हाल ही के दिनों में टाटा टेलिसर्विस, एयरसेल, टेलिनॉर इंडिया ने भी अपनी सर्विस बंद कर दी हैं जबकि एयरटेल, वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर ने अपने टैरिफ में खासी कटौती की है जिसके कारण बड़ी संख्या में कस्टमर्स अपना नंबर पोर्ट कराना चाहते हैं. DoT ऑफिशियल ने कहा कि अगर ये मुद्दा जल्दी नहीं सुलझा तो हम रिप्लेसमेंट के बारे में सोच सकते हैं और किसी और कंपनी को इस काम की जिम्मेदारी दे सकते हैं.

10 हजार से कम कीमत के 5 स्मार्टफोन जो हैं फेस अनलॉक टेक्नॉलजी से लैस

 बता दें कि पिछले कुछ समय से MNP करवाने वाले यूजर्स की तादाद ट्रिपल हो चुकी है. तो वहीं रिलायंस जियो इंफोकॉम के जाने के बाद और रिलांयस कम्यूनिकेशन के आने के बाद से टाटा टेलीकॉम सर्विस, एयरसेल और टेलीनॉर इंडिया और देश का सबसे पुराना ऑपरेटर भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सेलुलर ने अपने प्लान में काफी बदलाव किए हैं तो वहीं यूजर्स को भी अपने नए प्लान की मदद से अपनी तरफ काफी आकर्षित किया है.