पिछले महीने Malware को लेकर एक खबर आई थी, जिसमें पता चला था कि लोगों के ईमेल की जानकारी प्राप्त करने के बाद एक Malware प्रति घंटा तीस हजार मेल ऐसे भेज रहा है। इसमें निर्दोष लोगों को उनके लैपटॉप वेबकैन से लिए गए सेक्सुअल कंटेंट को वायरल करने की धमकी दी जा रही है और उन्हें ब्लैकमेल किया जा रहा है। अब एक खतरनाक ऐप को लेकर एक नई खबर सामने आई है, जहां पता चला है कि यह ऐप यूजर्स के अकाउंट को पूरी तरह से खाली कर सकती है। Secure-D की एक रिसर्च में सामने आया है कि ‘ai.type’ नाम की ऐसी ऐप पाई गई है, यूजर की परमीशन के बिना भी प्रीमियम डिजिटल सर्विसेज खरीद सकता है। इसकी वजह से यूजर को पता भी नहीं चलता है कि उसने कोई प्रीमियम कंटेंट सर्विस खरीदी है और उसके पैसे कट जाते हैं।

Mashable India के मुताबिक Secure-D का कहना है कि यह ऐप बैकग्राउंड में काम करता था और इसमें यूजर को बिना पता चले फेक ऐड व्यूज लिया जाता था, साथ ही ऐप डिजिटल परचेजेज करने में भी सक्षम था। यह ऐप यूजर्स के अकाउंट से पेमेंट कर रही थी। Ai.type एक थर्ड-पार्टी कीबोर्ड एंड्रॉयड ऐप है, जिसे 4 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड्स मिल चुके हैं। इस ऐप को इजराइल की कंपनी ai.type LTD ने बनाया है।

Secure-D टीम की रिपोर्ट में आगे यह भी बताया गया है कि धोकाधड़ी करके इस ऐप ने यूजर्स को करीब 18 मिलियन डॉलर (करीब 127 करोड़ रुपये) का चुना लगाने की कोशिश की थी, जिसे सिक्योरिटी फर्म सिक्यॉर-डी ने बचा लिया है। बताया गया है कि 110,000 मोबाइल से 14 मिलियन (1 करोड़ 40 लाख) के ट्रांसैक्शन की रिक्वेस्ट आ चुकी है। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि इस ऐप से 13 देश प्रभावित हुए हैं।

इस ऐप को प्ले स्टोर से जून 2019 में ही हटा दिया गया था, जिसका कारण इसमें चलने वाली खतरनाक बैकग्राउंड ऐक्टिविटी था, लेकिन जिन यूजर्स ने इस ऐप को अपने फोन से अनइंस्टॉल नहीं किया है या इंटरनेट के जरिए Apk इंस्टॉल कर चला रहे हैं, वें इस ऐप का शिकार अभी भी हो सकते हैं। यूजर्स को सलाह दी गई है कि इस ऐप की वजह से उनके पैसे उड़ाए जा सकते हैं, जिसका उन्हें पता भी नहीं चलेगा ऐसे में इस ऐप को तुरंत अपने फोन से पूरी तरह से हटा दें।