टोरंटो. वैज्ञानिकों ने एक ऐसा ‘प्राइवेसी फिल्टर’ बनाया है जो कृत्रिम बुद्धिमत्ता (ऑर्टिफिशिअल इंटेलिजेंस) की चेहरा पहचानने वाली तकनीक में फेरबदल कर सोशल मीडिया पर आपकी तस्वीरों को पहचाने जाने से बचा सकता है. हम जब भी किसी भी सोशल मीडिया मंच पर अपनी तस्वीर अपलोड करते हैं तो उस मीडिया की चेहरा पहचानने वाली प्रणाली हमारे बारे में थोड़ी और जानकारी जुटा लेती है. इस तरह के अल्गोरिद्म हम कौन हैं, हमारे स्थान और दोस्तों की जानकारी संबंधी डेटा हासिल कर लेते हैं.

सोशल नेटवर्क पर डेटा की सुरक्षा और निजता को लेकर बढ़ रही चिंता के बीच शोधकर्ताओं ने एक ऐसा अल्गोरिद्म तैयार किया है जो चेहरा पहचानने की प्रणाली में तेजी से गड़बड़ी कर सकता है. यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के प्रोफेसर परहम आराबी और स्नातक छात्र अभिषेक बोस ने यह अल्गोरिद्म तैयार किया है.

आराबी ने कहा , “व्यक्ति की निजता एक बड़ा मुद्दा है क्योंकि चेहरा पहचानने की प्रणाली बेहतर से बेहतर होती जा रही है. यह एक तरीका है जिससे इस प्रणाली से आसानी से निपटा जा सकता है.”