नई दिल्ली: सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर ने मई और जून में 7 करोड़ से ज्यादा फेक अकाउंट बंद कर दिए हैं. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, फेक अकाउंट के जरिए झूठी और सनसनी खबरें फैलाने की वजह से यह कार्रवाई की गई है. ट्विटर से जुड़े सूत्रों ने वाशिंगटन पोस्ट को बताया कि अक्टूबर में बंद किए गए अकाउंट की तुलना में दोगुने से अधिक है.  भारत में भी ट्विटर पर सबसे ज्यादा ट्रोल के मामले सामने आते हैं. भारत में ट्विटर के 3.04 करोड़ यूजर हैं. 2019 तक इनकी संख्या 3.44 करोड़ पहुंचने का अनुमान है. Also Read - यूजर्स के डेटा संग Twitter ने किया छेड़छाड़, भरना होगा 25 करोड़ डॉलर का जुर्माना

ट्विटर ने बदली थी पॉलिसी
अपने प्लेटफॉर्म पर नफरत और हिंसा फैलाने वाली पोस्ट से निपटने के लिए ट्विटर ने पिछले महीने पॉलिसी में बदलाव किए थे. इसके लिए नई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने और कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने का ऐलान किया था. कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट डेल हार्वे ने कहा, ये सुनिश्चित किया जाएगा कि ट्विटर के जरिए लोगों को विश्वसनीय, प्रासंगिक और उच्च गुणवत्ता वाली सूचनाएं मिल सकें. संदिग्ध खातों पर ट्विटर की इस कार्रवाई का असर इसके यूजर की संख्या पर पड़ सकता है. अप्रैल-जून तिमाही के आंकड़े आना बाकी है जिसमें यूजर की संख्या घट सकती है. Also Read - पीएम मोदी के Twitter पर हुए 60 मिलियन फॉलोवर, जानिए डोनाल्ड ट्रंप से हैं कितना पीछे

Also Read - वैश्विक हस्तियों के अकाउंट हैक होने के बाद भारत सरकार सख्त, ट्विटर को भेजा नोटिस