नई दिल्ली| भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने आधार आधारित सिम के सत्यापन के लिए वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) जैसे नए तरीकों को परिचालन में लाने की रूपरेखा को मंजूरी दे दी है. आपरेटर मौजूदा ग्राहकों के सिम के पुन: सत्यापन के लिए नए तरीके एक दिसंबर से लागू करेंगे. यूआईडीएआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भूषण पांडे ने कहा कि दूरसंचार कंपनियों की योजना को मंजूरी दे दी गई है. आपरेटर हमारे पास आए थे और उन्होंने इसे एक दिसंबर से क्रियान्वित करने की बात कही है.Also Read - EPFO Alert: PF खाताधारक 30 नवंबर तक पूरा कर लें यह काम, नहीं तो अटक जाएगी रकम; फटाफट चेक करें डिटेल्स

सरकार ने पिछले महीने ग्राहकों के मोबाइल नंबरों को आधार से जोड़ने के तीन तरीकों की घोषणा की थी.  इससे ग्राहकों को अपने घर से सिम के पुन: सत्यापन की सुविधा मिलेगी. इसके बाद आपरेटरों से अपनी रूपरेखा के साथ यूआईडीएआई से संपर्क करने को कहा गया था, जिससे वे अनुमति वाली नई प्रक्रियाओं को परिचालन में ला सकें और नई प्रणाली को क्रियान्वित कर सकें. हालांकि, इसके लिए पहले यूआईडीआई की मंजूरी जरूरी थी.
यह भी पढ़ें: अब ट्विटर पर यूजर्स कर सकेंगे लंबी बातबीत, वर्ड लिमिट हुई डबल Also Read - Aadhaar Card Update: घर बैठे इन आसान तरीकों से आधार में अपडेट करें मोबाइल नंबर, पता, DOB; जानें आसान तरीका

पांडे ने कहा कि इस योजना पर विचार के बाद सुरक्षा, अनुपालन और आधार कानून तथा निजता के संरक्षण के पहलुओं को देखते हुए मंजूरी दी गई है. नए मंजूर तरीकों के तहत मोबाइल नंबर को आधार से ओटीपी, एप और आईवीआरएस के जरिये जोड़ा जा सकता है. इस उपाय का उद्देश्य समूची प्रक्रिया को सरल करना और लोगों के लिए इसे सुगम बनाना है. Also Read - Aadhaar Card का दुरुपयोग पड़ेगा भारी, दोषियों पर UIDAI लगा सकता है एक करोड़ रुपये तक का फाइन

सर्विस प्रोवाइडर कंपनी के स्टोर पर जाकर आधार के साथ मोबाइल नंबर को जोड़ने की सुविधा जारी रहेगी. सरकार ने शारीरिक रूप से अक्षम, बीमार लोगों और वरिष्ठ नागरिकों को यह सुविधा उनके घर के दरवाजे पर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है. मोबाइल कंपनियों ने यूआईडीएआई को आश्वासन दिया है कि वे इस महीने के अंत तक ओटीपी आधारित सत्यापन की सुविधा शुरू कर देंगी.