नई दिल्ली: चीन की कुछ दिग्गज कंपनियों समेत 60 डिवाइस निर्माता कंपनियों के साथ फेसबुक द्वारा डाटा साझा करने की खबर के सामने आने के बाद अमेरिका में चिंता पाई जा रही है और इसी बीच अमेरिकी कांग्रेस के सदस्यों ने गूगल की मूल कंपनी अल्फाबेट की हुआवेई और शाओमी के साथ सौदे को लेकर चिंता जाहिर की है. अल्फाबेट के सीईओ लैरी पेज को लिखे एक खुले पत्र में सीनेटर मार्क वार्नर ने चीनी मूल उपकरण निमार्ता (ओईएम) के साथ सोशल मीडिया द्वारा डेटा साझा करने के अभ्यास के संकेतों के बारे में बात की है. उन्होंने कहा, अल्फाबेट की सहायक कंपनियों और इन चीनी कंपनियों के बीच समझौते शायद अधिक व्यापक हो सकते हैं. Also Read - Paytm removed from Play Store: Google ने हटाया Paytm, जानें अब आपके पैसों का क्‍या होगा

वर्जीनिया के डेमोक्रेट सीनेटर ने चिन्हित किया कि गूगल की हुआवेई और शाओमी समेत चीनी मोबाइल उपकरण निर्माताओं के साथ विभिन्न रणनीतिक साझेदारियां हैं. इसके साथ साथ गूगल की टेनसेंट से भी साझेदारी है. टेनसेंट भी एक चीनी प्रौद्योगिकी प्लेटफार्म है. सीएनईटी की गुरुवार की रिपोर्ट के मुताबिक, वार्नर ने कहा कि यह संभावना कि टेनलेंट ने गूगल से डेटा हासिल किया है, ‘राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए चिंता की वजह है. Also Read - Most Dangerous Apps: खतरनाक हैं ये 6 मोबाइल ऐप, तुरंत कर दें डिलीट

वार्नर ने कहा, अल्फाबेट के सीईओ को इन कंपनियों के साथ गूगल के सौदे को लेकर अधिक जानकारी का खुलासा करना चाहिए. माना जा रहा है कि गूगल की तरफ से वार्नर द्वारा उठाई गई चिंताओं पर स्पष्टीकरण दिया जाएगा. Also Read - Kormo Jobs: Google ने भारत में इस एम्प्लॉयमेंट ऐप का किया विस्तार, इसके जरिए आसानी से मिलेगा एंट्री लेवल जॉब्स 

(इनपुट:IANS)