Uttar Pradesh Police Twitter : उत्तर प्रदेश की गोरखपुर जिले की पुलिस ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर की मदद से दो गुमशुदा लड़कियों की तलाश की है। पुलिस की इस सफलता के बाद यूपी पुलिस डीडीपी ओम प्रकाश सिंह ने गोरखपुर पुलिस के मीडिया सेल में तैनात पुलिसकर्मियों और पुलिस की मदद करने वाले एक व्यक्ति को सम्मानित करने का फैसला लिया है। खबर के मुताबिक, बीते महीने जून की 28 तारीख को गोरखपुर जिले के चौरीचौरा थाने में दो लड़कियों की गुमशुदगी की रिपोर्ट मिली। इन लड़कियों को खोजने के लिए ड्यूटी में तैनात गोरखपुर पुलिस की सोशल मीडिया सेल ने ट्विटर का सहारा लिया और गुमशुदा लड़कियों की फोटो शेयर कर जानकारी शेयर की। गोरखपुर पुलिस के इस ट्वीट को उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police Twitter) ने भी अपने ट्विटर हैंडल से लोगों से पुलिस की मदद करने की अपील के साथ रिट्वीट किया।

उत्तर प्रदेश पुलिस के ट्विट पर मुंबई में रहने वाले प्रदीप हरि विलास विश्वकर्मा की नजर पड़ी। उन्होंने कुर्ला स्टेशन पर दो लड़कियां बैठी हुई देखीं जिनकी शक्ल यूपी पुलिस के ट्वीट में शेयर की गई फोटो से मिलती थी। जिसके बाद प्रदीप हरि विलास ने इसकी सूचना आरपीएफ (रेलवे पुलिस फोर्स) को दी। आरपीएफ ने दोनों लड़कियों को अपनी हिरासत में ले लिया और इसकी जानकारी गोरखपुर पुलिस को दी। इसके बाद गोरखपुर पुलिस तुरंत मुंबई रवाना हुई और दोनों लड़कियों को सही-सलामत उनके परिजनों को सौंप दिया।

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने लड़कियों के सही सलामत घर पहुंचने और पुलिस कर्मियों के काम पर खुशी जाहिर करते हुए गोरखपुर पुलिस के मीडिया सेल में तैनात पुलिसकर्मियों को प्रशंसा चिह्न देकर सम्मानित करने का निर्णय लिया है। इतना ही नहीं उन्होंने पुलिस की मदद करने वाले प्रदीप हरि विलास विश्वकर्मा को भी नागरिक  प्रशंसा चिह्न देकर सम्मानित करने का निर्णय लिया है।

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब सोशल मीडिया की मदद से गुमशुदा लोगों की तलाश पूरी हुई हो। हाल में ही वीडियो शेयरिंग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म TikTok ऐप की मदद से तमिलनाडु की एक महिला तीन साल पहले लापता हुए अपने पति को तलाशा था।