नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोनावायरस का प्रकोप दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. लेकिन इससे बचने के लिए हर देश की सरकार कई तरह के कदम उठा रही हैं. लेकिन इन सबसे बीच एक बढ़ी परेशानी इस वायरस को लेकर लोगों के बीच गलत सूचना फैलाना है. आए दिन व्हॉट्सऐप पर लोग इस वायरस से संबंधित कई ऐसे मैसेज दूसरे लोगों को फॉर्वर्ड कर रहे हैं जो समाज में गलत संदेश दे रहे हैं. इसे रोकने के लिए व्हॉट्सऐप ने एक बड़ा फैसला लिया है. व्हाट्सऐप ने मैसेज फॉरवर्डिंग को सीमित कर दिया है. Also Read - मोदी सरकार का किसानों के लिए कर्ज माफ़ी का बड़ा प्लान, 1 लाख करोड़ के लोन होंगे माफ़!

व्हाट्सऐप यूजर्स अब किसी मैसेज को एक बार में ही सिर्फ एक ही यूजर को फॉरवर्ड कर सकेंगे. व्हॉट्सऐप ने यह फैसला अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए लिया है. कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर तमाम तरह की फर्जी खबरें शेयर की जा रही हैं जो कि ट्विटर, गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियों के लिए चुनौती हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए व्हाट्सऐप ने मैसेज फॉरवर्डिंग की नई सीमा तय की. Also Read - देश में 1.3 अरब लोगों का कोरोना का टेस्ट संभव नहीं, ये बहुत महँगा पड़ेगा: डॉ. हर्षवर्धन


बता दें कि फेसबुक ने भी अपने प्लेटफॉर्म पर फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए इस तरह का फैसला लिया है. वहीं गूगल भी फर्जी खबरों को फ्लैग कर रहा है. पूरी दुनिया में व्हाट्सऐप के दो अरब से अधिक एक्टिव यूजर्स हैं, वहीं भारत में 40 करोड़ से अधिक लोग व्हाट्सएप इस्तेमाल करते हैं.