Patanjali Kimbho app: योगा गुरू रामदेव का स्वदेशी मैसेजिंग ऐप Kimbho पिछले साल ऐप स्टोर में आने के बाद गायब हो गया था। इसके पीछे वजह यूजर्स की प्राइवेसी की चिंता थी। हालांकि अब कंपनी के एग्जिक्यूटिव के मुताबिक यह ऐप बंद नहीं हुआ है बल्कि यह होल्ड की पोजिशन पर है। आपको याद दिला दें कि इस मैसेजिंग ऐप (Patanjali Kimbho app) को पिछले साल Patanjali Ayurved की कंपनी के तहत लॉन्च किया गया था। लॉन्च के वक्त कंपनी की तरफ से यह वादा किया गया था कि Kimbho ऐप में आपको चैट, मल्टीमीडिया, वॉयस और वीडियो कॉलिंग, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जैेसे सभी फीचर्स मिलेंगे।
Kimbho ऐप को सीधे फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी WhatsApp को टक्कर देने के लिए पेश किया गया था। हालांकि पिछले साल  Google Play Store पर यह ऐप आ तो गया था, लेकिन सिक्योरिटी के सवाल उठने के बाद यह ऐप प्ले स्टोर से गायब हो गया था।

इसके बाद ऐप बनाने वाली कंपनी ने स्वीकार किया था कि यह ऐप शुरुआत में यूजर्स की डिमांड का समर्थन नहीं कर पा रहा है। हालांकि इसके बाद कंपनी ने मौजूदा खामियों को स्वीकार किया और मौजूदा कमियों को दूर करने का वादा किया था। इसके बाद कंपनी ने इस ऐप को अगस्त में फिर से रिलॉन्च किया था, हालांकि इसके बाद भी यह यूजर्स की डिमांड को पूरा करने में विफल रहा। लेकिन इसके बाद कंपनी का यह ऐप फिर से प्ले स्टोर पर दिखाई नहीं दिया।

Patanjali के IT हेड और सीनियर वीपी Abhitab Saxena ने कहा कि Kimbho app अभी होल्ड पर है। उन्होंने IANS को यह जानकारी  दी। उन्होंने कहा कि अगर निकट भविष्य में  Kimbho app के बारे में  कोई भी डेवलपमेंट होता है तो Baba Ramdev Ji और Acharya Balkrishna इस बारे में कोई जानकारी देंगे। इस ऐप पर साइबरसिक्योरिटी एक्सपर्ट ने इसकी सिक्योरिटी को लेकर सवाल उठाए थे। इसके बाद कंपनी का वादा था कि यह AES एनक्रिप्टिड है।